विदेशी मुद्रा विश्वकोश

बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं?

बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं?
ओमानी रियाल
तेल और खनिज से संपन्न ओमान छोटा सा देश है पर इसकी करेंसी भी मजबूत है. 1 ओमानी रियाल की कीमत 168.30 रुपए है.

बिटकॉइन क्या है? | जाने 1 बिटकॉइन भारतीय मूल्य में कितने रुपयों का है | बिटकॉइन के फायदे और नुकसान | What is Bitcoins in hindi

आजकल के कंप्यूटर वाले दौर में इसका उपयोग बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है। लोग या कंपनी अपनी सेवा के बदले भी बिटकॉइन स्वीकार कर रही हैं और बिटकॉइन के साथ खरीदारी भी की जाने लगी है।
Microsoft और Tesla जैसी विश्व की कुछ दिग्गज कंपनियां भी बिटकॉइन के साथ लेनदेन की शुरुआत कर चुकी हैं।

Bitcoin के बारे में आपने सुना ही होगा बिटकॉइन Crypto Currency का एक रूप है।
लैटिन भाषा का शब्द Crypto जिसका मतलब होता है छुपा हुआ और करेंसी का मतलब है मुद्रा, कुल मिलाकर इसका अर्थ होता है छुपी हुई मुद्रा वर्तमान समय में इस शब्द का प्रयोग बिटकॉइन जैसी डिजिटल करेंसी के लिए किया जा रहा है।


बिटकॉइन पूरी तरह से एक पहली (विकेंद्रीकृत) डिसेंट्रलाइज्ड मुद्रा है जो किसी भी सेंट्रलाइज्ड बैंक द्वारा संचालित नहीं की जा रही है। इसका संचालन पूरी तरह से डिजिटल है जोकि Crypto Graphy Technique एवं हाई स्पीड कंप्यूटर नेटवर्क्स की सहायता द्वारा किया जाता है। क्रिप्टोग्राफी शब्द का अर्थ कोडिंग लैंग्वेज को क्रैक या सुलझाने की कला से है। जो कि बाइनरी (Binary) या 0 और 1 के form में होती है। इस पर विश्व के किसी भी देश या बैंक का कोई भी हस्तक्षेप नहीं है।

बिटकॉइन का आविष्कार किसने किया -

बिटकॉइन सन 2008 में (Satoshi Nakamoto) सातोशी नाका मोटो द्वारा बनाया गया था। लेकिन इसे ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के माध्यम से सन 2009 में लांच किया गया था।

Bitcoin का यूज कोई भी कर सकता है इसका कोई एक व्यक्ति मालिक नहीं है।

Bitcoin कहा से आते है, कैसे बनता है बिटकॉइन[Producing of Bitcoins]-

Bitcoin बनाने के लिए माइनिंग मेथड (mining method) का उपयोग किया जाता है। इस माइनिंग मेथड का उपयोग करने वालों को माइनर्स कहते हैं।

यह माइनिंग मेथड एक बहुत ही जटिल प्रोसेस होती है। जहा माइनर्स (mining mathematical problem) माइनिंग मैथमेटिकल प्रॉब्लम और (cryptographic problems) क्रिप्टो ग्राफिक बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं? प्रॉब्लम्स सुलझाते है। प्रॉब्लम्स सुलझाने के बाद माइनर्स को बिटकॉइन ब्लॉक (Block) के रूप में प्राप्त होते हैं। सीमित संख्या में (produce) प्रोडयूस होने के कारण इसकी मांग वृद्धि देखी जा रही है।

दुनिया की सबसे ताकतवर करेंसी जानकर हैरान रह जाएंगे आप

दुनिया की सबसे ताकतवर करेंसी जानकर हैरान रह जाएंगे आप

कुवैती दिनार (Twitter)

जब भी मजबूत करेंसी की बात होती है, हमारे दिमाग में अमेरिकन डॉलर का ख्याल आता है पर दुनिया के सबसे मजबूत करेंसी में डॉलर बहुत ही नीचे हैं. 1 अमेरिकन डॉलर 64 रुपए 83 पैसे होती है. अभी के समय के वर्चुअल (आभासी) करेंसी बिटकॉइन ने तहलका मचा रखा है. बिटकॉइन की कीमत लगातार बढ़ती जा रही है. बिटकॉइन की कीमत किसी भी देश की करेंसी से बहुत ज्यादा है. चूंकि बिटकॉइन वर्चुअल करेंसी है तो इसे पहचाना नहीं जा सकता है. बिटकॉइन को अभी भी कई देशों ने लीगल नहीं किया है. भारत की बात करें तो रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने बिटकॉइन को अभी तक लीगल नहीं माना है. आज की तारीख में 1 बिटकॉइन की कीमत 534019.20 रुपए हैं. हम बात करते हैं दुनिया के देशों की ताकतवर करेंसी की.

दुनिया की सबसे ताकतवर करेंसी जानकर हैरान रह जाएंगे आप

दुनिया की सबसे ताकतवर करेंसी जानकर हैरान रह जाएंगे आप

कुवैती दिनार (Twitter)

जब भी मजबूत करेंसी की बात होती है, हमारे दिमाग में अमेरिकन डॉलर का ख्याल आता है पर दुनिया के सबसे मजबूत करेंसी में डॉलर बहुत ही नीचे हैं. 1 अमेरिकन डॉलर 64 रुपए 83 पैसे होती है. अभी के समय के वर्चुअल (आभासी) करेंसी बिटकॉइन ने तहलका मचा रखा है. बिटकॉइन की कीमत लगातार बढ़ती जा रही है. बिटकॉइन की कीमत किसी भी देश की करेंसी से बहुत ज्यादा है. चूंकि बिटकॉइन वर्चुअल करेंसी है तो इसे पहचाना नहीं जा सकता है. बिटकॉइन को अभी भी कई देशों ने लीगल नहीं किया है. भारत की बात करें तो रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने बिटकॉइन को अभी तक लीगल नहीं माना है. आज की तारीख में 1 बिटकॉइन की कीमत 534019.20 रुपए हैं. हम बात करते हैं दुनिया के देशों की ताकतवर करेंसी की.

बिटकॉइन क्या है ? What is Bitcoin ?

बिटकॉइन को दुनिया की सबसे पुरानी क्रिप्टो करेंसी माना जाता है। इस इस बिटकॉइन की शुरुआत 2009 में Satoshi Nakamoto ने की है ऐसा बोला जाता है। हालांकि Satoshi Nakamoto को किसी ने अब तक देखा नहीं है और कोई भी उसे जानते भी नहीं है। बिटकॉइन शुरू करने का मकसद अपने पैसे को एक जगह से दूसरे जगह ऑनलाइन तरीके से भेजना यह था। इस बिटकॉइन के दुनियाभर में सॉफ्टवेयर बनाए गए थे, यह इस तरह डिजाइन किए गए थे कि जब भी कोई इस बिटकॉइन से माध्यम से पैसे की लेनदेन करें तो किसी को पता भी नहीं चले।

दुनिया भर में सबसे ज्यादा खरीदी की जाने वाली क्रिप्टो करेंसी सिर्फ बिटकॉइन ही है, इसलिए इस की किमत हमेशा बढ़ते ही रही है। बिटकॉइन की लोकप्रियता का अंदाजा आप इस बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं? बात से लगा सकते हैं कि 2016 में एक बिटकॉइन की कीमत लगभग ₹60,000 थी, आज 2021 में एक बिटकॉइन की कीमत ₹40 लाख के ऊपर जा चुकी है। अभी तक लोग एफडी म्यूच्यूअल फंड, लाइफ एलआईसी इसमें अपना पैसा इनवेस्ट करते थे, लेकिन आज बहुत सारे लोग बिटकॉइन में अपना पैसा इन्वेस्ट कर रहे हैं (Invest in Bitcoin) और इसी वजह से बिटकॉइन की कीमत (Price of Bitcoin) हर दिन बढ़ते जा रही है।

क्या क्रिप्टो करेंसी लीगल (कानूनी) है ? Is Crypto Currency Legal by law ?

आज इंडिया में बहुत सारे लोग Crypto Currency में इन्वेस्ट कर रहे है। लेकिन कोई भी निवेश करने से पहले जोखिमों को जाच लेना चाहिए। दुनिया के कुछ ही देशों में क्रिप्टो करेंसी को मान्यता दी गई है। अमेरिका जापान फ्रांस जर्मनी जैसे कुछ बढ़ो देश के बड़े देशों में क्रिप्टो करेंसी को सरकारी मान्यता दी गई है। वैसे ही नेपाल अगरिया बांग्लादेश जैसे बहुत सारे देशों ने अभी तक क्रिप्टो करेंसी को सरकारी मान्यता नहीं दी है, मतलब इन देशों में क्रिप्टो करेंसी में निवेश करना गैरकानूनी माना जाता है।

अपने भारत में 2018 में इस क्रिप्टोकरंसी के व्यवहार पर पूरी तरह से बंदी लगाई थी। लेकिन सन 2020 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने एक सर्कुलर निकाला जिसके तहत क्रिप्टो करेंसी पर लगाई गई पाबंदी (Crypto Currency Ban) को हटाया गया जिसके बाद इंडिया के बहुत बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं? बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं? सारे लोगों ने क्रिप्टोकरंसी में निवेश करना चालू किया। इंडिया में क्रिप्टो करेंसी का उपयोग करके आप किसी चीज को ख़रीद नहीं सकते, परंतु क्रिप्टो करेंसी को खरीदने और बेचने पर कोई पाबंदी नहीं है, क्रिप्टो करेंसी को खरीदना और बेचना इंडिया में कानूनी है। क्रिप्टो करेंसी को खरीदने और बेचने के बाद कमाया हुआ मुनाफा आप सीधा आपके बैंक खाते में ट्रांसफर कर सकते हो।

क्रिप्टो करेंसी/बिटकॉइन में निवेश से कितना रिटर्न मिल सकता है ? How Much we can get in return ?

जैसे कि आपको पता है गोल्ड(Gold Investment) में इन्वेस्ट करने पर आपको ज्यादा से ज्यादा 2% या 3% का फायदा मिल सकता है। एफडी (Fix deposit)में निवेश करने से आपको से तेज 7% का रिटर्न मिल सकता है। म्यूचुअल फंड(Mutual Fund) में निवेश करने से आपको 17% से 18% रिटर्न मिल सकता है। और बिटकॉइन या फिर कोई क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने से आपको 65% से 70% रिटर्न मिल सकता है, इसी से आप क्रिप्टो करेंसी की बढ़ती लोकप्रियता (Crypto currency Popularity) का अंदाजा लगा सकते बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं? हैं। लेकिन आपको क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है, क्रिप्टो करेंसी में अगर आप आंख बंद करके पैसा लगाते हो तो आपके पैसों का नुकसान होने की भी संभावना बहुत ज्यादा होती है।
लेकिन अगर हमें बिटकॉइन या कोई क्रिप्टोग्राफी से पैसा कमाना है तो बहुत होशियारी से, उसका पूरा जानकारी लेकर निवेश करना जरूरी है।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

  • क्रिप्टोकरेंसी रुपया या अमेरिकी डॉलर की ही तरह विनिमय का एक माध्यम है, लेकिन यह प्रारूप में डिजिटल है जो मौद्रिक इकाइयों के सृजन को नियंत्रित करने और धन के विनिमय को सत्यापित करने के लिये एन्क्रिप्शन तकनीकों (Encryption techniques) का उपयोग करती है।
  • बिटकॉइन (Bitcoin) विश्व की सबसे प्रसिद्ध क्रिप्टोरेंसी है जो बाज़ार पूंजीकरण के अनुसार विश्व की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी भी है।
  • अधिकांश क्रिप्टोकरेंसी को राष्ट्रीय सरकारों द्वारा विनियमित नहीं किया जाता है; उन्हें वैकल्पिक मुद्रा या वित्तीय विनिमय के साधन के रूप में देखा जाता है जो राज्य की मौद्रिक नीति के दायरे से बाहर होते हैं।
    • सितंबर 2021 में अल साल्वाडोर विश्व का ऐसा पहला देश बन गया जिसने बिटकॉइन को वैध मुद्रा/लीगल टेंडर के रूप में मान्यता प्रदान की।

    क्रिप्टोकरेंसी से संबद्ध संदिग्ध क्षेत्र

    • अस्थिर प्रकृति: क्रिप्टोकरेंसी एक तरह का सट्टा है। इसमें अधिक मात्रा में निवेश बाज़ार अस्थिरता (Market Volatility) उत्पन्न करता है, यानी कीमतों में उतार-चढ़ाव को अवसर देता है जिसके परिणामस्वरूप लोगों को भारी नुकसान हो सकता है।
    • विश्वसनीयता बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं? और सुरक्षा: चूँकि क्रिप्टोकरेंसी लेन-देन का एक डिजिटल मोड है, यह हैकर्स, आतंकी वित्तपोषण और ड्रग लेनदेन के लिये एक अत्यंत आम मंच बन गया है।
      • उदाहरण के लिये, अपराधियों द्वारा बिटकॉइन बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं? में फिरौती का भुगतान करने के लिये ‘वन्नाक्राई’ वायरस का उपयोग किया गया था।
      • इसके अलावा, क्रिप्टोकरेंसी को मुद्रा, वस्तु या प्रतिभूति के रूप में परिभाषित नहीं किया गया है।
      • उदाहरण के लिये, भारत बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं? में केवल RBI के पास ही नकदी सृजन का अधिकार है जिसे वह न्यूनतम रिज़र्व सिस्टम बनाए रखते हुए करता है। यह मांग और आपूर्ति का एक संतुलन बनाए रखता है।
        • लेकिन क्रिप्टोकरेंसी वित्तीय संस्थागत नियमों पर निर्भर नहीं होती बल्कि एन्क्रिप्टेड और प्रोटेक्टेड होती है जिससे पूर्वनिर्धारित एल्गोरिथम रेट पर धन की आपूर्ति में वृद्धि करना कठिन हो जाता है।

        UPSC सिविल सेवा परीक्षा, विगत वर्ष के प्रश्न:

        प्रश्न:“ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी” के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये: (वर्ष 2020)

        1. यह एक सार्वजनिक बहीखाता है जिसका निरीक्षण हर कोई कर सकता है, लेकिन जिसे कोई एकल उपयोगकर्त्ता नियंत्रित नहीं करता है।
        2. ब्लॉकचेन की संरचनाऔर डिज़ाइन ऐसा है कि इसमें मौजूद सारा डेटा क्रिप्टोकरेंसी के बारे में ही होता है ।
        3. ब्लॉकचेन की बुनियादी सुविधाओं पर निर्भर एप्लीकेशन बिना किसी की अनुमति के विकसित किये जा सकते हैं।

        उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

        (a) केवल 1
        (b) केवल 1 और 2
        (c) केवल 2
        (d) केवल 1 और 3

        उत्तर: (d)

        प्रश्न. हाल ही में कभी-कभी समाचारों में आने वाले शब्द 'वानाक्राई, पेट्या और इंटर्नलब्लू' निम्नलिखित में से किससे संबंधित हैं (2018)

रेटिंग: 4.54
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 813
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *