शुरुआती के लिए विदेशी मुद्रा पाठ्यक्रम

हर क्रिप्टो एक अलग एसेट

हर क्रिप्टो एक अलग एसेट
इस परिस्थति में क्रिप्टो करंसी पर सरकार को पूर्णतया प्रतिबंध लगाना चाहिए। यह पर्यावरण के लिए हानिकारक है, अपराधों को शह देती हर क्रिप्टो एक अलग एसेट है, इसकी मान्यता अनिश्चित है और यह क्षणभंगुर है।

ब्लाकचैन क्या है? क्या सुचना, संचार और डिजिटल एसेट का भविष्य यही होगा?

Blockchain Technology in hindi: दोस्तों ब्लाकचैन भविष्य की टेक्नोलॉजी (प्रोद्योगिकी) है जिसका उपयोग सुचना, नेटवर्किंग, संचार और डिजिटल एसेट्स को सुरक्षित रखने के लिए किया जा सकता है आज हम आपको ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले है जिससे आपके मन में इस प्रोद्योगिकी से जुड़े सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश करेंगे और उम्मीद यही होगी की आज के बाद आपके मन में ब्लाकचैन से जुड़ा कोई प्रश्न हर क्रिप्टो एक अलग एसेट न रहे.

ब्लाकचैन आने वाले समय में लगभग सभी क्षेत्रों में हर क्रिप्टो एक अलग एसेट चाहे वह सप्लाई चैन, हेल्थकेयर, क्रिप्टोकरेंसी, सुचना संचार, साइंस एंड टेक्नोलॉजी या फिर लॉ एंड आर्डर हो हर क्षेत्र में इस टेक्नोलॉजी का विस्तार संभव है और एक्सपर्ट्स की माने तो इसपर रिसर्च का कार्य भी चल रहा है, अब मन में यह सवाल आता है की आखिर यह टेक्नोलॉजी है क्या? और कैसे यह सभी क्षेत्रों में भविष्य की टेक्नोलॉजी बन्ने वाली है और यह सामान्य टेक्नोलॉजी से कैसे अलग है आज इस लेख के माध्यम से इन सभी विषयों पर चर्चा की जाएगी.

ब्लाकचैन क्या है? Blockchain Technology in Hindi

ब्लाकचैन क्या है (Blockchain technology in hindi)

ब्लाकचैन क्या है? क्या सुचना, संचार और डिजिटल एसेट का भविष्य यही होगा? 1

ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी एक देसन्त्रलाईसड(Decentralised) डेटाबेस होता है जो की किसी कंप्यूटर नेटवर्क में मल्टीप्ल नोड्स(Computers) पर वितरित होता है इसमें आपका डाटा किसी एक सेंट्रल कंप्यूटर में स्टोर नही होता बल्कि यह दुनिया भर के तमाम कंप्यूटर पर स्टोर होता है जो की इसे सुरक्षा भी प्रदान करता है क्यों की एक कंप्यूटर पर डाटा को बदला जा सकता है मगर जो डाटा कई कंप्यूटर पर है उसे एक जगह से नही बदला जा सकता.

ब्लाकचैन और कंप्यूटर डेटाबेस से कैसे अलग है?

आमतौर पर किसी भी कंप्यूटर डेटाबेस में डाटा को टेबल्स की रूप में स्टोर किया जाता है वहीं ब्लाकचैन में डाटा को ग्रुप अथवा ब्लाक के रूप में स्टोर किया जाता है ये डाटा ब्लॉक्स अलग अलग कंप्यूटर पर सुरक्षित होते है तथा किसी भी ब्लाक को यदि बदलने की कोशिश की जाए तो उससे जुड़े हुए ब्लाक में एक चेंज का सिग्नल चला जायेगा और पूरा नेटवर्क उसको वेरीफाई करने का कार्य करेगा यदि वह बदलाव सही पाया गया तभी सिस्टम उसको लागू करेगा अन्यथा नही.

चुकी कंप्यूटर डेटाबेस किसी भी एक सेंट्रल सर्वर कंप्यूटर पर ही स्टोर होता है इसीलिए उसमे बदलाव करना संभव होता है वहीं ब्लाक चैन में डाटा ब्लाक बहुत से कंप्यूटर पर स्टोर होते है जिसको एक साथ बदल पाना नामुमकिन सा है.

ब्लाकचैन में किसी भी अकेले व्यक्ति के पास कण्ट्रोल नही होता है जिससे हर क्रिप्टो एक अलग एसेट कोई अकेला उसमे कोई बदलाव नही कर सकतावहीं सेंट्रल डेटाबेस में कण्ट्रोल एक अकेले व्यक्ति अथवा संस्था के पास होता है जिसमे बदलाव अथवा हैक करना संभव होता है.

मार्च में जीएसटी संग्रह ने तोड़े सारे रेकॉर्ड 1,42,095 करोड़

नई दिल्ली देश में सकल जीएसटी संग्रह मार्च, 2022 के दौरान 1.42 लाख करोड़ रुपये (GST Collection) के अबतक उच्चतम स्तर पर पंहुच गया। वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय के अनुसार मार्च, 2022 में सकल जीएसटी संग्रह 1,42,095 करोड़ रुपये रहा। इसमें केंद्रीय जीएसटी 25,830 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी 32,378 करोड़ […]

पेट्रोल-डीजल ही नहीं जेट ईंधन के भी बढ़ रहे दाम, 2% की बढ़ोतरी से रिकॉर्ड लेवल पर पहुंची नई कीमत

नई दिल्ली जेट ईंधन की कीमतों में शुक्रवार को 2 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई, जिससे नई कीमत रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच गई। इस साल यह लगातार सातवीं वृद्धि है। वैश्विक ऊर्जा कीमतों में बढ़ोतरी हर क्रिप्टो एक अलग एसेट के बीच ये दाम बढ़ाए गए हैं। मालूम हो कि हवाई जहाज को उड़ान भरने में विमानन टरबाइन ईंधन (एटीएफ) का […]

सुकन्या समृद्धि योजना जैसी छोटी बचत पर ऊंचा ब्याज तीन माह और मिलेगा

नई दिल्ली। सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ), किसान विकास पत्र, राष्ट्रीय बचत पत्र (एनएससी) और डाकघर की आरडी समेत अन्य छोटी बचत योजनाओं पर मौजूदा ब्याज दरें 30 जून तक लागू रहेंगी। वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को छोटी बचत योजनाओं की दरें जून तिमाही तक स्थिर रखने का फैसला किया है। आशंका जताई जा रही थी […]

Crypto currency Latest update, अब क्रिप्टो में 30% की दर से टैक्स लगाने के बाद यह है क्रिप्टो मार्केट का हाल, क्रिप्टो में कैसे लगेगा टैक्स,क्रिप्टो नही होगा बैन

Cryptocurrency Update : 2 फरवरी 2022, को क्रिप्टोकरेंसी बाजार में काफी स्थिरता देखी गई। ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैप (Global Crypto Market Cap) 0.03 प्रतिशत बढ़कर 1.76 ट्रिलियन डॉलर तक जा पहुंची है। बुधवार को बिटकॉइन (Bitcoin Price Today) में हल्की गिरावट तो इथेरियम (Ethereum Price Today) में थोड़ा-सा उछाल देखने को मिला। हालांकि यह गिरावट तथा उछाल स्थायी नहीं थे। यह रिपोर्ट दोपहर 1:45 मिनट के हिसाब से जारी किया गया है।

यदि हम बात करें पिछले 24 घंटे के दौरान सबसे ज्यादा बढ़ने वाली करेंसीज की तो सोलाना (Solana Price Today) में हर क्रिप्टो एक अलग एसेट 3 प्रतिशत से ज्यादा, पोल्काडॉट (Polkadot) में भी 3 प्रतिशत तथा लाइटकॉइन (Litecoin) में भी लगभग 3 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली। इसके अलावा, गिरने वाली करेंसीज़ में टेरा लूना (Terra LUNA), शीबा इनु (Shiba Inu), डोज़कॉइन (Dogecoin), कॉसमॉस (Cosmos) तथा चेनलिंक (Chainlink) शामिल रहीं।

क्रिप्टो करंसी हर क्रिप्टो एक अलग एसेट पर तो बैन लगना ही चाहिए

लेखकः भरत झुनझुनवाला
क्रिप्टो करंसी क्या है, यह जानना जरूरी है। मान लीजिए 100 कंप्यूटर विशेषज्ञ एक हॉल में अलग-अलग क्यूबिकल में बैठे हुए हैं और वे एक सुडुको के पजल को हल कर रहे हैं। जिसने यह पजल पहले हल कर लिया, उसके हल को सबने देखा और अनुमोदित कर दिया कि हां, यह हल सही है तो उसे एक बिटकॉइन दे दिया गया। इसके बाद सबने सुडुको के अगले चरण के लिए अपने-अपने सुझाव दिए। एक कंप्यूटर ने इन सुझावों को मिलाया और एक नया सुडुको पजल उन्हीं 100 लोगों को दे दिया। दोबारा इनमें से जिसने सबसे पहले सुडुको को हल किया, उसे फिर से लोगों ने चेक किया और सही पाए जाने पर उसे एक और बिटकॉइन दे दिया गया। ध्यान रहे, यह बिटकॉइन केवल एक ‘नंबर’ होता है, जो एक कंप्यूटर द्वारा बनाया जाता है। जिसके पास वह ‘नंबर’ है, वही उस बिटकॉइन का मालिक है। यह नंबर ही चेक बुक है।

How to Calculate Net Asset Value (NAV) in Mutual Fund

NAV क्या है और इसकी गणना कब की हर क्रिप्टो एक अलग एसेट जाती है? – नेट एसेट वैल्यू म्यूचुअल फंड की प्रति यूनिट बाजार हर क्रिप्टो एक अलग एसेट मूल्य है। ट्रेडिंग दिवस समाप्त होने के बाद एनएवी की गणना की जाती है।

यह वह मूल्य है जिस पर निवेशक किसी म्यूचुअल फंड कंपनी से यूनिट खरीदते या बेचते है (रिडीम करते हैं)। एनएवी की गणना निम्नलिखित तरीके से की जाती है जिसके बारे में हम नीचे चर्चा कर रहे हैं:

एनएवी की गणना इस प्रकार की जाती है

(कुल संपत्तियां – देनदारियां) / बकाया इकाइयों की संख्या = शुद्ध संपत्ति मूल्य (एनएवी)

(Total Assets – Liabilities)/Number of Outstanding Units = Net Assets Value (NAV)

• कुल संपत्तियां = सभी नकद हर क्रिप्टो एक अलग एसेट और प्रतिभूतियों का कुल मूल्य।

• कुल देनदारियां = सभी देनदारियां जैसे कुल खर्च आदि।

• बकाया इकाइयों की संख्या = इकाइयाँ जो वर्तमान में उपलब्ध हैं।

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 553
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *