भारतीय व्यापारियों के लिए गाइड

करेंसी क्या है

करेंसी क्या है
News Reels

क्रिप्टो करेंसी क्या है कैसे काम करती है हिंदी में (CryptoCurrency Kya Hai In Hindi)

क्रिप्टो करेंसी क्या है पैसे कैसे कमाए | Crypto Currency Kya Hai

CryptoCurrency Kya Hai In Hindi: इंटरनेट के माध्यम से आपने क्रिप्टोकरेंसी के बारे में तो आपने सुना ही होगा. पर क्या आप जानते हैं Cryptocurrency क्या है और काम कैसे करती है, क्रिप्टोकरेंसी का अबिष्कार कब हुआ, क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें, क्रिप्टोकरेंसी से पैसे कैसे कमाए, क्रिप्टोकरेंसी के फायदे व नुकसान क्या हैं तथा भारत में क्रिप्टोकरेंसी का भविष्य क्या होगा.

अगर आपके मन में भी क्रिप्टोकरेंसी को लेकर इसी प्रकार के सवाल आते रहते हैं तो आज के इस लेख के द्वारा हम आपके सवालों का जवाब देने की कोशिस करेंगे.

क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल करेंसी है जिसे हम छु नहीं सकते हैं, अपने पास नहीं रख सकते या फिर बैंक या तिजोरियों में छुपा नहीं सकते हैं. क्रिप्टोकरेंसी को हम अपने डिजिटल Wallet में रख सकते हैं और ऑनलाइन Transaction के साथ – साथ क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेडिंग भी कर सकते हैं .

करेंसी क्या है (What is Currency in करेंसी क्या है करेंसी क्या है Hindi)

करेंसी एक ऐसी धन – प्रणाली होती है जिसे किसी देश के द्वारा मान्यता प्राप्त होती है और उसकी कोई Value होती है. करेंसी को उस देश के लोगों द्वारा धन के रूप में प्रयोग किया जाता है, लोग करेंसी के इस्तेमाल से वस्तुएं खरीद सकते हैं.

Currency को हिंदी में मुद्रा कहा जाता है. आजकल लगभग सभी देशों के पास खुद की करेंसी क्या है करेंसी होती है जैसे भारत की करेंसी रुपया है और अमेरिका की डॉलर इसी प्रकार अन्य देशों की भी अलग – अलग करेंसी होती है.

करेंसी को कागज़ या धातु के टुकड़ों (सिक्कों) पर प्रिंट किया जाता है. करेंसी भौतिक रूप में होती है, मतलब कि हम इसे छु सकते हैं, अपने पास रख सकते हैं. इसलिए करेंसी को फिजिकल करेंसी भी कहते हैं. लेकिन क्रिप्टोकरेंसी इससे बहुत अलग है.

क्रिप्टोकरेंसी क्या है (Cryptocurrency in Hindi)

क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल करेंसी होती है जो कंप्यूटर के अल्गोरिथम पर बनी होती है. यह एक डिजिटल asset है जिसके द्वारा ऑनलाइन चीजों की खरीददारी का काम कर सकते हैं. क्रिप्टोकरेंसी एक स्वतंत्र मुद्रा है, Decentralized होने के कारण इसका मालिक कोई नहीं है और न ही दुनिया के किसी भी देश के सरकार का अधिकार क्रिप्टोकरेंसी में है.

क्रिप्टोकरेंसी Peer to Peer इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम के रूप में कार्य करती है जिसके द्वारा हम इंटरनेट के माध्यम से Service या Good को खरीदते हैं. क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल करने के लिए किसी बैंक या सरकार की अनुमति की आवश्यकता नहीं होती है.

Digital Form में होने के कारण क्रिप्टोकरेंसी को छु नहीं सकते हैं और ना ही हम इसे भौतिक रूप में अपने पास रख सकते हैं. क्रिप्टोकरेंसी के द्वारा लोग ऑनलाइन खरीदकारी करने के साथ – साथ क्रिप्टो में ट्रेड करने का काम सकते हैं.

Crypto Currency kya hai क्रिप्टो करेंसी क्या है?

Crypto Currency एक डिजिटल मुद्रा है। जैसे की हर देश की कोई न कोई मुद्रा होती है जैसे भारत की रुपया अमेरिका का डॉलर ऐसे ही सभी देशो की अपनी-अपनी मुद्रा होती है जिसे हम छू और देख सकते है। लेकिन Crypto Currency किसी देश की मुद्रा नहीं है यह केवल डिजिटल फॉर्म करेंसी क्या है में काम करती है। इसका कोई रूपए या डॉलर की तरह कोई हार्ड कॉपी नहीं है। Crypto Currency का केवल ऑनलाइन लेनदेन हो सकता है।

हम इसे ऐसे भी समझ सकते है Crypto Currency एक ऐसी मुद्रा है, जिसे किसी देश की सरकार द्वारा लागू नहीं किया जाता है। और न ही Crypto Currency पर किसी देश, बैंक या किसी 3rd पार्टी या अन्य का नियंत्रण होता है अर्थात यह पूर्णतः एक स्वतंत्र मुद्रा है जिसे हम छू नहीं सकते।

Crypto Currency का इतिहास

Crypto Currency की शुरुआत डेविड चाउम द्वारा की गयी थी जिसे उन्होंने शुरुआत में एक्श नाम दिया और फिर 1995 में, उन्होंने इसे डिजिकैश के माध्यम से लागू किया था। किन्तु तब इसे कुछ सफलता नहीं मिली। उसके कुछ सालो बाद कुछ और लोगो ने भी इस पर ध्यान दिया लेकिन वह भी इतना सफल नहीं हो पाए। फिर 2009 में सतोषी नाम के एक व्यक्ति ने बिटकॉइन के नाम से एक Crypto Currency की शुरुआत की जो की पहली डिजिटल मुद्रा है।

हालाँकि शुरुआत में इसे भी कुछ खास सफलता नहीं मिली लेकिन कुछ ही सालो में इसमें इतनी तेजी देखने को मिली की सबकी आँखे चौंका गई क्योंकि इसकी कीमत इंडियन रुपया में 51 लाख से भी अधिक गए थी।

Crypto Currency के प्रकार

इन कुछ सालो में Crypto Currency में बहुत तेजी देखने को मिल और देखते ही देखते 2021 में ही लगभग 100 से भी अधिक क्रिप्टो करेंसी लॉन्च हुई। जिसमे सबसे ज्यादा लोकप्रिय बिटकॉइन है इसके अलावा Ethereum, Solana (SOL), Binance Coin (BNB), Avalanche (AVAX), Cosmos (ATOM), Filecoin (FIL) प्रसिद्ध है।

Bitcoin

Bitcoin - Types of crypto currency

Bitcoin – Types of crypto currency (Crypto Currency Kya Hai)

Bitcoin एक सबसे लोकप्रिय Crypto Currency है जिसकी शुरुआत सातोशी नामक एक जापानी व्यक्ति ने 2008 में की थी। और फिर इसे 2009 में ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर (A to Z कंप्यूटर की शॉर्टकट Keys) के रूप में जारी किया था। यह दुनिया की पहली Crypto Currency भी कहलाती है। बिटकॉइन की कीमत इंडियन रुपया में 51 लाख तक करेंसी क्या है पहुंच चुकी थी जबकि इसकी 2015 में 21k (21 हजार) थी जो की अभी 2022 में 15 लाख के लगभग है।

Digital Currency: आ गया भारत का अपना डिजिटल रुपया, जानें आपको इससे क्या होंगे फायदे

By: अजातिका सिंह | Updated at : 01 Nov 2022 08:21 PM (IST)

Digital Currency: भारतीय रिजर्व बैंक ने मंगलवार 1 नवंबर से डिजिटल करेंसी यानी भारतीय रुपे की शुरुआत कर दी है. अपने पहले पायलट परीक्षण कार्यक्रम के जरिए डिजिटल रुपये करेंसी क्या है का इस्तेमाल अब व्यापक रूप से किया जा सकेगा. इसके लिए रिजर्व बैंक ने नौ बैंकों- भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, यस बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक और एचएसबीसी- को इस पायलट प्रोजेक्ट के तहत शामिल किया है.

डिजिटल रुपये के ज़रिए अब लोगों की कैश पर निर्भरता कम होगी और यह एक तरह से थोक खंड (Wholesale Transaction) के लिए अच्छा विकल्प भी साबित होगा. अभी तक ट्रांजेक्शन करेंसी, रुपये या चेक के माध्यम से या किसी बैंकिंग सिस्टम के माध्यम से किया जाता है. लेकिन डिजिटल नोट में कोई हार्ड करेंसी की जरूरत नहीं होगी. वॉलेट टू वॉलेट आप ट्रांजेक्शन कर पाएंगे.करेंसी क्या है

अब आने वाली है डिजिटल करेंसी, आसान भाषा में समझें आखिर इससे सामान कैसे खरीदेंगे?

By: ABP Live | Updated at : 30 Nov 2022 10:24 करेंसी क्या है AM (IST)

1 दिसंबर यानी गुरुवार से डिजिटल करेंसी की शुरुआत होने वाली है.

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने ऐलान कर दिया है कि 1 दिसंबर यानी गुरुवार से डिजिटल करेंसी की शुरुआत होने वाली है. डिजिटल करेंसी की शुरुआत के साथ ही डिजिटलीकरण की तरफ भारत एक और बड़ा कदम बढ़ा लेगा. बताया जा रहा है कि आरबीआई पहले इसकी शुरुआत कुछ लोकेशन पर ही करेगा, उसके बाद इसका दायरा बढ़ाया जाएगा. अभी इसकी शुरुआत पायलट प्रोजेक्ट के रुप में हो रही है. डिजिटल करेंसी के ऐलान से करेंसी क्या है जुड़ी खबर आने के बाद लोगों के मन में काफी सवाल है कि आखिर इसका इस्तेमाल कैसे किया जाएगा. कैसे लोगों को डिजिटल करेंसी मिलेगी और जब कुछ सामान खरीदेंगे तो इस करेंसी के जरिए कैसे भुगतान कर सकेंगे. तो करेंसी क्या है जानते हैं इससे जुड़े कुछ अहम सवालों के जवाब.

'Cryptocurrency'

सर्वर हैक करने के 6 दिन बाद आखिरकार हैकर्स ने मंशा जाहिर कर दी है. हैकर्स ने सर्वर रिलीज करने के बदले 200 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी है. हैकर्स यह पैसा भारतीय करेंसी या अमेरिकी डॉलर्स में नहीं करेंसी क्या है बल्कि वर्चुअल क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) में लेना चाहते हैं, ताकि उन्हें ट्रेस नहीं किया जा सके

यहां ध्यान रखने वाली बात ये हुई कुछ बेहतरीन दांव वाले कॉइन हाई APR अर्जित कर सकते हैं, जिसका मतलब है कि इन सिक्कों को दांव पर लगाने से आपको अन्य की तुलना में अच्छा रिवॉर्ड मिल सकता है।

रेटिंग: 4.83
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 330
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *