खास टिप्स

शेयर बाजार की मूल बातें

शेयर बाजार की मूल बातें

Stock Market: 3 दिन के बाद कल खुलेगा भारतीय शेयर बाजार, महंगाई डेटा और ग्लोबल रुख से तय होगी बाजार की चाल

Stock Market: भारतीय शेयर बाजार की नजर अब मुद्रास्फीति, केंद्रीय बैंक के नीतिगत दर को लेकर कदम, कच्चे तेल की कीमतें और प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में मंदी को लेकर चिंताओं पर होगी.’’

Stock Market: 3 दिन के बाद कल खुलेगा भारतीय शेयर बाजार, महंगाई डेटा और ग्लोबल रुख से तय होगी बाजार की चाल

Stock Market: घरेलू शेयर बाजार की चाल इस सप्ताह ग्लोबल रुख, थोक महंगाई के आंकड़े, विदेशी संस्थागत निवेशकों का पूंजी प्रवाह और कच्चे तेल की कीमतों से तय होगी. विश्लेषकों ने यह बात कही. छुट्टी के कारण इस सप्ताह कारोबारी दिवस कम होंगे. निवेशकों की नजर मंगलवार को जारी होने वाले थोक कीमत सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आंकड़े पर होगी. जुलाई महीने में खुदरा महंगाई दर 6.71 फीसदी और जून में औद्योगिक उत्पादन 12.3 फीसदी बढ़ा.

कल के लिए क्या संकेत हैं
कोटक सिक्योरिटीज के इक्विटी शोध प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा, ‘‘कंपनियों के वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के वित्तीय परिणाम लगभग आ चुके हैं. ऐसे में बाजार की नजर अब मुद्रास्फीति, केंद्रीय बैंक के नीतिगत दर को लेकर कदम, कच्चे तेल की कीमतें और प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में मंदी को लेकर चिंताओं पर होगी.’’

संबंधित खबरें

Ramayana Yatra: भगवाम राम और सीता माता की नगरी का यात्रा करने का मौका! सफर में IRCTC से फ्री मिलेगी ये सुविधाएं

Ramayana Yatra: भगवाम राम और सीता माता की नगरी का यात्रा करने का मौका! सफर में IRCTC से फ्री मिलेगी ये सुविधाएं

IPL Auction 2023: BCCI ने रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख का ऐलान किया, बेन स्टोक्स-जो रूट ने दर्ज कराया नाम

IPL Auction 2023: BCCI ने रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख का ऐलान किया, बेन स्टोक्स-जो रूट ने दर्ज कराया नाम

Indian Railways: IRCTC अकाउंट को आधार कार्ड से ऐसे करें लिंक, जानें क्या मिलेंगे फायदे

IND vs NZ: वनडे सीरीज में टीम इंडिया के इन कीवी खिलाड़ियों से रहना होगा सावधान, अकेले पलट सकते हैं मैच

IND vs NZ: वनडे सीरीज में टीम इंडिया के इन कीवी खिलाड़ियों से रहना होगा सावधान, अकेले पलट सकते हैं मैच

Stock Market Opening: ग्लोबल संकेतों के चलते तेजी के साथ खुले भारतीय शेयर बाजार, आज मंथली एक्सपायरी का दिन

Stock Market Opening: ग्लोबल संकेतों के चलते तेजी के साथ खुले भारतीय शेयर बाजार, आज मंथली एक्सपायरी का दिन

News Reels

शेयर बाजार के लिये अच्छी बात यह है कि विदेशी संस्थागत निवेशक शेयर बाजार की मूल बातें अब लिवाली कर रहे हैं. अगस्त के पहले दो सप्ताह में उन्होंने 22,450 करोड़ रुपये निवेश किये हैं. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि इस हफ्ते बाजार की नजर मुद्रास्फीति रुख और केंद्रीय बैंक के नीतिगत निर्णय के असर जैसे कारकों पर होगा.

क्या कहते हैं जानकार
सैमको सिक्योरिटीज के अपूर्व सेठ ने कहा कि दुनिया भर के बाजारों की नजर इस सप्ताह प्रकाशित होने वाले एफओएमसी (फेडरल ओपन मार्केट कमेटी) की बैठक के ब्योरे पर होगी. ब्योरे में क्या है, उस पर भी बाजार की चाल निर्भर शेयर बाजार की मूल बातें करेगी. शेयर बाजार आज सोमवार स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बंद है.

रविवार को दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का निधन
बाजार के लिये जाने-माने निवेशक 62 वर्षीय राकेश झुनझुनवाला का रविवार को निधन एक सदमे के रूप में आया है. विश्लेषकों का कहना है कि वह देश की अर्थव्यवस्था और बाजारों के लिये उत्साह का संचार करने वालों में शामिल थे. एचडीएफसी सिक्योरिटीज में खुदरा शोध प्रमुख दीपक जसानी ने कहा कि कुल मिलाकर भारतीय बाजार जब मंगलवार को खुलेगा, अमेरिकी बाजारों में शुक्रवार और सोमवार के रुझानों का असर होगा. उन्होंने कहा कि निवेशक भारत की विकास गाथा में झुनझुनवाला के अटूट विश्वास और आत्मविश्वास को भी याद करेंगे. जसानी के मुताबिक 'सोमवार की छुट्टी से इस अचानक दुखद घटना का प्रभाव कुछ कम हो सकता है.'

Share Market Latest Update: अगले सप्ताह कैसी रह सकती है शेयर बाजार की चाल? ये चीजें तय करेंगी आपके पैसे डूबेंगे या मुनाफा होगा!

Share Market Latest Update: इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा वैश्विक रुझानों से तय होगी। इसके अलावा मानसून की प्रगति भी बाजार की दृष्टि से महत्वपूर्ण होगी। चिंता की बात विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) की अंधाधुंध बिकवाली है। बाजार भागीदारों की निगाह कोविड संक्रमण के मामलों पर भी रहेगी।

share-market

हाइलाइट्स

  • इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा वैश्विक रुझानों से तय होगी
  • इसके अलावा मानसून की प्रगति भी बाजार की दृष्टि से महत्वपूर्ण होगी
  • चिंता की बात विदेशी संस्थागत निवेशकों की अंधाधुंध बिकवाली है
  • बाजार भागीदारों की निगाह कोविड संक्रमण के मामलों पर भी रहेगी

रेलिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष-शोध अजित मिश्रा ने कहा, ‘‘घरेलू मोर्चे पर किसी बड़े घटनाक्रम के अभाव में स्थानीय बाजारों की दिशा वैश्विक रुख से तय होगी। बाजार भागीदारों की निगाह कोविड संक्रमण के मामलों और मानसून की प्रगति पर होगी।’’

बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 2,943.02 अंक या 5.42 प्रतिशत नीचे आया। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी में 908.30 अंक या 5.61 प्रतिशत का नुकसान रहा। मीणा ने कहा कि कमजोर वैश्विक रुख, अमेरिका में ब्याज दरों में आक्रामक वृद्धि तथा एफआईआई की बिकवाली की वजह से बीते सप्ताह बाजार में भारी गिरावट रही।

कोटक महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी की वरिष्ठ ईवीपी और इक्विटी शोध प्रमुख शिवानी कुरियन ने कहा, ‘‘कई ऐसी चीजें हैं जो इस सप्ताह बाजार का रुख तय करेंगी। मुद्रास्फीति और मौद्रिक नीति, जिंस कीमतें विशेष रूप से कच्चा तेल, यूक्रेन-रूस युद्ध के मोर्चे से जुड़ी खबरें और घरेलू मांग तथा कंपनियों की आमदनी जैसे कारक निकट भविष्य में बाजारों की दिशा तय करेंगे।’’

सैमको सिक्योरिटीज की इक्विटी शोध प्रमुख येशा शाह ने कहा कि इस सप्ताह घरेलू और वैश्विक मोर्चे पर कोई बड़ा घटनाक्रम नहीं होने जा रहा है। ऐसे में स्थानीय बाजारों के लिए वैश्विक रुझान महत्वपूर्ण होंगे।

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म. पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

बेस्ट स्टॉक मार्केट बुक्स हिंदी में | बिगिनर्स के लिए

शेयर मार्केट में निवेश से पैसा कमाना जब तक आसान नहीं हैं जब तक आप इसके बेसिक कॉन्सेप्ट को सही से सीख नहीं लेते। स्टॉक मार्केट सीखना एक निरतंर प्रक्रिया हैं जो आपको किताबों और मैगज़ीन से बेहतर शायद ही कहीं ओर से मिल पाएं।

शेयर मार्केट सीखने के लिए अंग्रेजी में आपको ढेरों किताबें मिल जाएगी। परन्तु हिंदी भाषा में कुछ गिनी-चुनी ही किताबे मौजूद हैं जो की आपको शेयर मार्केट सीखने में मदद कर सकती हैं।

आज इस आर्टिकल के माध्यम से मैं आपको Best Stock Market Books in Hindi बताऊंगा जिससे की आप अपने शेयर मार्केट ज्ञान को एक कदम आगे ले जा सकते हैं।

Best Stock Market Books in Hindi

आपको मैं 7 Best Stock Market Books in Hindi बताऊंगा जिनमें इन्वेस्टिंग और ट्रेडिंग से सम्बंधित बेस्ट किताबें शामिल होगी।

Best Stock Market Books in Hindi

(1) शेयर मार्केट गाइड

ये किताब शेयर मार्केट बिगिनर के लिए एक बेहतरीन किताब मानी जाती हैं। भारतीय लेखक द्वारा लिखित होने के कारण ये पढ़ने और समझने में बहुत आसान हैं।

शेयर मार्केट गाइड किताब श्रीमती सुधा श्रीमाली द्वारा लिखी गई हैं। ये किताब 1 जनवरी 2020 को प्रकाशित की गई थी।

किताब की सीधी, स्पष्ट-सरल भाषा, शेयर बाज़ार की कार्य प्रणाली, कमोडिटी मार्केट, म्यूच्यूअल फण्ड, एसेट एलोकेशन इसे एक अच्छी किताब बनाते हैं।

इस किताब में मुख्य रूप आपको ये जानकारी मिलेगी –

  • शेयर मार्केट की बेसिक जानकारी
  • प्राथमिक और द्वितीयक मार्केट
  • स्टॉक एक्सचेंज कैसे कार्य करता हैं?
  • ट्रेडिंग
  • स्टॉक ब्रोकर कैसे चुने
  • शेयर मार्केट में कैसे निवेश करें
  • कमोडिटी, म्यूच्यूअल फण्ड और डेरीवेटिव की जानकारी
  • शेयर मार्किट क्रैश

कुल मिलाकर अगर आप एक नए निवेशक हैं और शेयर मार्केट को शुरू से सीखना चाहते हैं तो आप निश्चित तौर पर इस किताब के साथ शुरुवात कर सकते हैं।

इस किताब को आप यहां से ख़रीद सकते हैं –

ये भी पढ़ें –

(2) बफ़े और ग्राहम से सीखें शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करना

आर्यमन डालमिया द्वारा लिखित ये पुस्तक 1 जनवरी 2021 को प्रकाशित की गई थी। ये स्टॉक मार्केट की किताब इन्वेस्टिंग गुरु मिस्टर वारेन बफ़े और बेंजीमन ग्राहम के सिद्वान्तों पर आधारित हैं।

ये स्टॉक मार्किट की किताब हमें निवेश के मूलभूत सिद्धांत, वास्तविक उदाहरणों के साथ समझाती हैं। ये सभी निवेश के सिद्धांत निवेश सिद्धांतों के जनक बेंजामिन शेयर बाजार की मूल बातें ग्राहम ने प्रतिपादित किये थे।

साथ ही इस पुस्तक में बताया गया हैं की कैसे मिस्टर वॉरेन बफे ने बेंजामिन ग्राहम के नियमों का पालन करके निवेश के द्वारा संपत्ति बनाई और विश्व के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए।

इस बुक के भारतीय लेखक होने की वजह से इसमें भारतीय स्टॉक मार्केट का संदर्भ बहुत ही आसान भाषा में समझाया गया हैं। इसलिए अगर आप एक नए निवेशक हैं तो ये किताब आपके लिए बेस्ट शेयर मार्केट बुक इन हिंदी हो सकती हैं।

इस किताब को आप यहां से ख़रीद सकते हैं –

(3) शेयर बाजार में कैसे नुकसान से बचें और धनवान बने

अगर Best Share Market Books in Hindi की बात की जाएँ तो ये बुक मेरी सबसे पसंदीदा बुक हैं। इसका एक बहुत बड़ा कारण हैं की ये किताब आपको वो सिखाती हैं जो की अच्छे-अच्छे लेखकों की किताब आपको सीखा नहीं पाती हैं।

स्टॉक मार्केट में पैसा सभी कमाना चाहते हैं लेकिन शेयर मार्केट में सबसे महत्वपूर्ण होता हैं अपना पैसा बचाना। ये आपको कोई नहीं सिखाता। ये किताब आपको बखूबी सिखाती हैं की कैसे आप शुरुवाती दौर में नुकसान से बच सकते हैं। इस बुक में शेयर बाजार में नुकसान से बचने के टिप्स बहुत ही आसान भाषा में दिए गए हैं।

अधिकतर लोगों की यहीं कहानी रहती हैं की वे बिना सोचे-समझे ट्रेडिंग करते हैं, फिर नुकसान खाते हैं और अंत में शेयर मार्केट को सट्टा मार्केट बताकर हमेशा के लिए अलविदा कह देते हैं।

इसलिए जिससे की आपको इन सब समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ें आपको ये बुक अवश्य पढ़नी चाहिए। ये किताब प्रसेनजीत पॉल द्वारा लिखी गई हैं।

इस किताब को आप यहां से ख़रीद सकते हैं –

(4) इंवेस्टोनॉमी

ये स्टॉक मार्किट की बुक मिस्टर प्रांजल कामरा द्वारा लिखी गई पुस्तक हैं। स्टॉक मार्किट में वैल्यू इन्वेस्टिंग पैसा बनाने की सबसे बेहतरीन टेक्निक मानी जाती हैं।

इंवेस्टोनॉमी भी हमें वैल्यू इन्वेस्टिंग के कांसेप्ट ही समझाती हैं। वैल्यू इन्वेस्टिंग के द्वारा ही जैसे बेंजामिन ग्राहम, वॉरेन बफे, चार्ली मुंगर, पीटर लिंच आदि ने संपत्ति बनाई हैं।

ये किताब आज के समय के निवेश के सिद्धांत समझाती हैं, साथ ही शेयर बाजार के रहस्यों से भी पर्दा उठाती हैं। ये बुक आम भ्रांतियों और गलत धारणाओं को भी दूर करने का प्रयास करती हैं। ये किताब मौजूदा निवेशकों के साथ ही भावी निवेशकों को सशक्त बनाने पर आधारित हैं।

साथ ही ऐसे निवेशक जो शेयर मार्केट से काफी डरते हैं, उनके लिए ये किताब काफी बढ़िया साबित हो सकती हैं।

इस किताब को आप यहां से ख़रीद सकते हैं –

(5) धन-सम्पति का मनोविज्ञान

शेयर मार्केट को सीखने के लिए ये आवश्यक नहीं की आप बस स्टॉक मार्केट की ही किताबें पढ़े। धन-सम्पति का मनोविज्ञान (The Psychology of Money) बुक एक ऐसी किताब हैं जो आपको वेल्थ, निवेश, लालच और धन का मनोविज्ञान बताती हैं।

साथ में ये किताब समझाती हैं की कैसे पैसे को काम पर लगाएं, कैसे पैसों को मैनेज और निवेश करें।

मनी सम्बंधित ये पुस्तक मेरी पसंदीदा बुक्स में से एक हैं। मेरी राय में आपको ये किताब एक बार अवश्य पढ़नी चाहिए। ये किताब आपकी मनी सम्बंधित धारणा को बिलकुल परिवर्तित कर देगी। धन-सम्पति का मनोविज्ञान बुक मॉर्गन हाउजल द्वारा लिखी गई हैं।

इस किताब को आप यहां से ख़रीद सकते हैं –

(6) टेक्निकल एनालिसिस और कैंडलस्टिक की पहचान

अगर आप स्टॉक शेयर बाजार की मूल बातें मार्केट में ट्रेडिंग करना सीखना चाहते हैं तो हिंदी में ये किताब आपकी लिए बढ़िया विकल्प हो सकता हैं। ये किताब मिस्टर रवि पटेल द्वारा लिखी गई हैं।

इस शेयर मार्केट की बुक में आपको निम्न बाते जानने को मिलेगी –

  • स्टॉक मार्केट विश्लेषण का परिचय
  • तकनीकी विश्लेषण की मूल बातें
  • कैंडलस्टिक का परिचय
  • चार्ट पैटर्न का परिचय
  • टेक्निकल इंडिकेटर
  • टेक्निकक्ल एनालिसिस
  • स्टॉप लॉस शेयर बाजार की मूल बातें थ्योरी
  • केस स्टडीज

इस प्रकार ये किताब आपको इंट्राडे और नियमित ट्रेडिंग में काफी बढ़िया सहायता कर सकती हैं।

इस किताब को आप यहां से ख़रीद सकते हैं –

(7) ऑप्शन ट्रेडिंग से पैसों का पेड़ कैसे लगाए

ऑप्शन ट्रेडिंग सीखने के लिए ये किताब Best Stock Market Book in Hindi मानी जाती हैं। ऑप्शन ट्रेडिंग से सम्बंधित मार्केट में अनेक किताबें मौजूद हैं परन्तु वो नए निवेशकों को समझने में काफी कठिन साबित होती हैं।

परन्तु ये ऑप्शन ट्रेडिंग की बुक पढ़ने और समझने में बहुत ही आसान हैं जिसे कम पढ़ा-लिखा आदमी भी आसानी से समझ सकता हैं।

अगर आप ट्रेडिंग से अपनी एक नियमित आय का जरिया बनाना चाहते हैं तो आपको निश्चित तौर पर एक बार तो ये किताब जरूर पढ़नी चाहिए।

ऑप्शन ट्रेडिंग से पैसों का पेड़ कैसे लगाए बुक महेश चंद्र कौशिक द्वारा लिखी गई हैं।

इस किताब को आप यहां से ख़रीद सकते हैं –

निष्कर्ष

अगर स्टॉक मार्केट को सीखने की बात की जाए तो ये कोई एक दिन का काम नहीं हैं। इसे सीखने में समय लगता हैं। स्टॉक मार्केट को सीखने के लिए बुक्स सबसे बेहतरीन विकल्प माना जा सकता हैं। साथ ही आप धीरे-धीरे अपने अनुभव से स्टॉक मार्केट में सीखते जाएंगे।

स्टॉक मार्केट में सफल होने के लिए आवश्यक हैं कि आप अच्छी तैयारी के साथ शेयर मार्केट में निवेश की शुरुआत करें। अगर आप बिना सोचे-समझे और किसी की टिप्स के आधार पर ही स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं तो आप को भारी नुकसान हो सकता हैं। जिससे आप लंबी अवधि में अच्छी वेल्थ बनाने से चूक सकते हैं।

इसीलिए हमेशा रिसर्च और एनालिसिस करने के बाद ही किसी कंपनी के स्टॉक में निवेश करें।

दोस्तों, आज आपने इस आर्टिकल में Best Stock Market Books in Hindi के बारें में जाना। अगर आपके कोई भी सवाल या सुझाव हैं तो आप मुझे कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकते हैं।

सेबी लेकर आने वाला है शेयर बाजार के लिए नया नियम, निवेशकों को मिलेगी मदद

सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) बाजार के रुझानों पर नियमित रूप से रिस्क फैक्टर डिस्कलॉजर जारी करने की योजना बना रहा है. इसमें चढ़ाव और गिरावट, दोनों तरह के रुझान शामिल है.

सेबी लेकर आने वाला है शेयर बाजार के लिए नया नियम, निवेशकों को मिलेगी मदद

TV9 Bharatvarsh | Edited By: राघव वाधवा

Updated on: Jul 10, 2022 | 9:48 PM

सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) (Sebi) बाजार (Share Market) के रुझानों पर नियमित रूप से रिस्क फैक्टर डिस्कलॉजर जारी करने की योजना बना रहा है. इसमें चढ़ाव और गिरावट, दोनों तरह के रुझान शामिल है. सूत्रों ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि इन डिस्कलॉजर से निवेशकों (Investors) को सही फैसले लेने में मदद मिलेगी. यह कदम अभी चर्चा के शुरुआती चरण में है, जिससे निवेशकों को एक झुंड की मानसिकता से बचने में मदद मिल सकती है. पिछले कुछ सालों में, और खासतौर से महामारी (Covid-19 Pandemic) के दौरान 2020 की शुरुआत में देखने को मिला कि निवेशकों ने घबराहट में बिकवाली की और उसके बाद जल्दी से अमीर होने के लालच में बड़े पैमाने पर खरीदारी की, जिससे उन्हें नुकसान हुआ.

सेबी क्यों ला रहा है ये नया नियम?

इस दौरान खासतौर से बड़ी संख्या में आए आईपीओ में और साथ ही वायदा और विकल्प खंड में निवेशकों को नुकसान हुआ है.

एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि निवेशकों ने हर चक्र में एक निश्चित रुझान देखा- यानी, जब शेयर चल रहा होता है, तो हर कोई उसे खरीदने के लिए दौड़ता है और फिर संकट आने पर वे घबराहट में बिक्री करते हैं. पूंजी बाजार में निवेश की मूल बातों को हमेशा नजरअंदाज किया जाता है, और इसका एक प्रमुख कारण स्वतंत्र अंतर्दृष्टि की कमी है.

अधिकारी ने आगे कहा कि बाजार में उपलब्ध अधिकांश शोध सामग्री बाजार सहभागियों द्वारा तैयार की गई है, जिनके अपने व्यावसायिक हित होते हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे में यह एक अच्छा विचार हो सकता है, अगर नियामक खुद बाजार में तेजी या गिरावट को लेकर अपने नजरिए को सार्वजनिक करे.

सेबी के मुताबिक मौजूदा नियम हुए बेकार

सेबी जिस विचार पर शेयर बाजार की मूल बातें काम कर रहा है, उसकी व्याख्या करते हुए एक उच्च स्तरीय सूत्र ने कहा कि अब समय आ गया है कि सेबी उन मामलों पर डिस्कलॉजर करके उदाहरण पेश करे, जो बड़े पैमाने पर निवेशकों के लिए उपयोगी हो सकते हैं. इस योजना में शामिल एक सूत्र ने कहा कि मौजूदा नियमों के तहत एक साधारण वाक्य अनिवार्य है कि कुछ निवेश बाजार जोखिमों के अधीन हैं, जो बहुत अधिक घिसा-पिटा हो गया है और यह अब काम नहीं करता है.

उन्होंने आगे कहा कि समय की जरूरत है कि निवेशकों को कुछ विस्तृत आंकड़े मिलें, वह भी नियामक से. सिर्फ उनके फंड प्रबंधकों से नहीं, जिनका मुख्य उद्देश्य अपने व्यवसायों को बढ़ाना है. उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से यह नियामक की जिम्मेदारी है कि सभी जरूरी खुलासे किए जाएं और तय हो कि बाजार सहभागियों को उनके बारे में कैसे बताना चाहिए. सूत्र ने कहा कि यह नियामक का कर्तव्य है कि वह निवेशकों और सभी बाजार भागीदारों को बताए कि उसकी समझ क्या है.

Start Investing in Stock Market: शेयर बाजार में ऐसे शुरू कर सकते हैं निवेश, जानिए स्टेप-बाय-स्टेप प्रोसेस

अब आपको यह तय करना होगा कि आपके निवेश का लक्ष्य क्या है।

किसी भी निवेश से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि आखिर आप निवेश करना क्यों चाहते हैं। अपने वित्तीय लक्ष्य को हासिल करने के तरीके को जानना सबसे महत्वपूर्ण बातों में से एक है। ऐसा करने के लिए एक विशेषज्ञ होने की जरूरत नहीं है।

नई दिल्ली, जेएनएन। शेयर बाजार में कई लोग निवेश करना चाहते हैं, लेकिन इस बाजार की टेक्निकल बातों और जोखिम के चलते यहां निवेश करने से कतराते हैं। यदि आप भी शेयर बाजार में निवेश शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं, लेकिन यह नहीं जानते कि किससे पूछना है, तो हम आपको इस बारे में बिल्कुल आसान शब्दों में बताएंगे।

सबसे पहले तय करें रणनीति

किसी भी निवेश से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि आखिर आप निवेश करना क्यों चाहते हैं। अपने वित्तीय लक्ष्य को हासिल करने के तरीके को जानना सबसे महत्वपूर्ण बातों में से एक है। ऐसा करने के लिए एक विशेषज्ञ होने की जरूरत नहीं है। आपको केवल कुछ मूल शेयर बाजार की मूल बातें बातें जानने की जरूरत है। एक योजना बनाएं और दूसरा उसका पालन करने के लिए पर्याप्त अनुशासन बरतें।

Train cancelled 24 November 2022, Know status of your train

क्यों करना चाहते हैं निवेश

अब आपको यह तय करना होगा कि आपके निवेश का लक्ष्य क्या है। क्या आप शादी के लिए निवेश कर रहे हैं, अपने बच्चे के कालेज फंड या सेवानिवृत्ति के लिए निवेश कर रहे हैं। उसके बाद तय करें कि आपको अपने लक्ष्य को कितने वर्षों में पूरा करना है। ऐसा इसलिए, क्योंकि जब आप निवेश करते हैं, तो आपके लिए सबसे जरूरी ये जानना होता है कि इसमें आपको प्रवेश कब करना है और निकलना कब है।

Petrol Diesel Price Today 24 November in Delhi, Noida, Bangalore, Mumbai and other cities

डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट्स खोलें

निवेश शुरू करने के लिए आपको डीमैट और ट्रेडिंग खातों की जरूरत होती है। इसकी शुरुआत आप इन तीन आसान स्टेप में कर सकते हैं। स्टेप 1: एक स्टॉक ब्रोकर चुनें जहां डीमैट और ट्रेडिंग खाता खुलवाया जा सकें। स्टेप 2: केवाईसी के नियमों को पूरा करें। चरण 3: केवाईसी की सत्यापन प्रक्रिया पूरा होते ही बाजार से कमाई करने के लिए आप रजिस्टर्ड हैं।

गौतम अदाणी की संपत्ति में हुआ भारी इजाफा

अब निवेश के लिए बजट निर्धारित करें

बजट तय करना निवेश का महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसके अलावा, विश्लेषण करें कि क्या वार्षिक एकमुश्त निवेश करना आपके लिए अनुकूल होगा या मासिक आधार पर अधिक आकर्षक होगा।

निफ्टी में निवेश: जब आप यह सब पता लगा लेते हैं, तो आप निफ्टी जैसे सूचकांकों के लिए तैयार हैं। ऐसा करने के कई तरीके हैं।

स्पॉट ट्रेडिंग और डेरिवेटिव ट्रेडिंग

पीएमजीकेएवाई समेत सभी आवश्यक जरूरतों के लिए सरकार के पास पर्याप्त खाद्यान्न है।

निफ्टी में निवेश करने का सबसे सरल तरीका किसी कंपनी के स्टॉक यानी शेयर को खरीदना। जब आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं तो आप उनकी कीमत बढ़ने पर पूंजीगत लाभ का फायदा उठा सकते हैं। वहीं डेरिवेटिव एक तरह वित्तीय अनुबंध हैं। ये स्टॉक, कमोडिटीज, मुद्राएं आदि में हो सकते हैं। इस पद्धति के साथ, पार्टियां भविष्य की तारीख में अनुबंध का निपटान करने के लिए सहमत होती हैं और अंतर्निहित परिसंपत्ति के भविष्य के मूल्य पर दांव लगाकर लाभ कमाती हैं।

रेटिंग: 4.85
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 187
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *