खास टिप्स

शेयर दलाल क्या है

शेयर दलाल क्या है
ब्रोकिंग हाउस के सब ब्रोकर कैसे बने?

शेयर दलाल क्या है?

इसे सुनेंरोकेंदलाल या तो विक्रेता या खरीदार का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं लेकिन एक ही समय पर दोनों को नहीं कर सकता । उदाहरण स्टॉक दलाल होगा, जो अपने ग्राहक की तरफ से प्रतिभूतियों की बिक्री या खरीद करता है। दलाल स्टॉक, बॉन्ड और अन्य वित्तीय सेवाओं की बिक्री में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं। दलाल का उपयोग करने के फायदे हैं।

टॉप 10 भारतीय Full-Service Broker जिनके जरिये आप खोल सकते है डीमैट और ट्रेडिंग खता

  • शेयर खान :(ShareKhan)
  • आईसीआईसीआई डायरेक्ट :(ICICI Direct Securities)
  • मोतीलाल ओसवाल :(Motilal Oswal)
  • एंजेल ब्रोकिंग :(Angel Broking)
  • IIFL सिक्योरिटीज :(IIFL Securities)
  • SBI Cap सिक्योरिटीज :(SBI Cap Securities)

शेयर ब्रोकर कैसे चुने?

शेयर ब्रोकर कैसे चुने

कैसे एक शेयर दलाल बनने के लिए?

12वीं पास हैं तो आप बन सकते हैं शेयर बाजार में सब ब्रोकर, होगी…

  1. शै​क्षणिक योग्यता आपकी न्यूनतम योग्यता 10 + 2 या हायर सेकंडरी सर्टिफिकेट होनी चाहिए।
  2. क्या क्या दस्तावेज चाहिए
  3. बुद्धिमानी से ब्रोकरेज फर्म चुनें
  4. आवश्यकताओं को जांच लें
  5. बुनियादी जानकारी दें
  6. रजिस्ट्रेशन फी और अकाउंट एक्टिवेशन

ब्रोकर कैसे काम करता है?

इसे सुनेंरोकेंयह मूल रूप से एक विशिष्ट ब्रोकरेज प्रतिशत आपके कुल ट्रेडिंग मूल्य के ऊपर लगाया जाता है और वह इसे आपके कुल ट्रेडिंग मूल्य (पोर्टफोलियो) में से काट लेता है । इस प्रकार, खरीद और बिक्री के इस विशेष निष्पादन के लिए आपको अपने स्टॉक ब्रोकर को ब्रोकरेज शुल्क के रूप में ₹4200 का भुगतान करना होगा।

Zerodha मुझे 1 लाख मुझे कितना चार्ज lagta hai?

इसे सुनेंरोकेंआपके सौदे की कुल कीमत हुई 1 लाख रुपये (100*1000)। जिस दिन आप ये सौदा करते हैं उसे ट्रेड डे या टी डे (T Day) कहते हैं। तो एक लाख रुपये के साथ 103.93 रुपये की फीस आपको देनी पड़ेगी, यानी कुल 100,103.93 रुपये की रकम आपके ट्रेडिंग अकाउंट से निकल जाएगी।

कैसे भारत में शेयर दलाल बनने के लिए?

इसे सुनेंरोकेंअगर आप भी शेयर मार्किट में अपने पैसे को निवेश करना चाहते हो और ढेर सारा पैसा कमाना चाहते है तो आपको एक डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत होती है जोकि एक स्टॉक ब्रोकर के द्बारा की खोले जाते है। और यह दोनों अकाउंट एक ही ब्रोकर खोल देता है।

3 .3 डिपॉजिटरी और डिपॉजिटरी पॉर्टिसिपेंट (Depository and Depository Participants)

जब आप कोई प्रॉपर्टी खरीदते हैं तो उसके कागज संभाल कर रखते हैं जिसे समय आने शेयर दलाल क्या है पर आप दिखा सकें कि आपने कब और कहाँ से उसे खरीदा था। इसलिए कागज को सुरक्षित जगह पर रखना महत्वपूर्ण होता है।

इसी तरह जब आप शेयर खरीदते हैं (जो कि वास्तव में उस कंपनी में आपकी हिस्सेदारी है) तो आपको अपनी हिस्सेदारी साबित करने के लिए शेयर सर्टिफिकेट को संभाल कर रखना होता है। क्योंकि उसी में सारी जानकरी लिखी होती है कि आपके पास कंपनी का कितना हिस्सा है।

1996 तक शेयर सर्टिफिकेट कागज का होता था। लेकिन उसके बाद से शेयर सर्टिफिकेट डिजिटल तरीके से जारी होने लगा। कागज के शेयरों को डिजिटल में बदलने की प्रक्रिया को डीमैटेरियलाइजेशन (Dematerialization) कहा जाता है जिसे छोटे में डीमैट (DEMAT) कहा जाने लगा।

3.4 बैंक (Banks)

शेयर बाजार के मामले में बैंक की भूमिका काफी सीधी होती है। ये बैंक से शेयर दलाल क्या है ट्रेडिंग एकाउंट और ट्रेडिंग एकाउंट से बैंक के बीच पैसों का ट्रांसफर करते हैं। इसके लिए ट्रेडिंग एकाउंट और बैंक एकाउंट में एक ही नाम होना जरूरी है।

आप अपने कई बैंक एकाउंट अपने ट्रेडिंग एकाउंट से जोड़ सकते हैं। जैसे जेरोधा (Zerodha) पर एक प्राइमरी बैंक एकाउंट और तीन सेकेंडरी बैंक एकाउंट आपके ट्रेडिंग एकाउंट से जोड़ने की सुविधा है। आप शेयर खरीदने के लिए पैसे इनमें से किसी भी बैंक एकाउंट से डाल सकते हैं। लेकिन बेचते समय पैसे सिर्फ प्राइमरी बैंक एकाउंट में ही जाएंगे। आपका प्राइमरी बैंक एकाउंट आपके ट्रेडिंग एकाउंट, डिपॉजिटरी और रजिस्ट्रार एंड ट्रांसफर एजेंट (Registrar and transfer agents- RTA) से भी जुड़ा होता है।

3.5 एन एस सी सी एल (NSCCL) और आई सी सी एल (ICCL)

नेशनल सेक्योरिटीज क्लियरिंग कॉरपोरेशन लिमिटेड (National Security Clearing Corporation Limited- NSCCL) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE)की और इंडियन क्लियरिंग कारपोरेशन लिमिटेड BSE यानी बाम्बे स्टॉक एक्सचेंज शेयर दलाल क्या है की सब्सिडियरी हैं। इनका काम है एक्सचेंज पर होने वाले हर सौदे का सेटेलमेंट करना। अगर आपने बॉयोकॉन का एक शेयर 446 के भाव पर खरीदा है तो किसी ने आपको ये शेयर 446 रूपए में बेचा होगा। क्लियरिंग कॉरपोरेशन का काम ये सुनिश्चित करना है कि शेयर बेचने वाले के डीमैट एकाउंट से निकल कर खरीदने वाले के डीमैट एकाउंट में पहुंच जाए। और पैसे खरीदने वाले के बैंक से निकल कर बेचने वाले के बैंक एकाउंट में। तो कुल मिलाकर क्लियरिंग कॉरपोरेशन किसी भी सौदे में ये काम करता है:

आढत का शुल्क

ब्रोकरेज शुल्क एक दलाल द्वारा लेनदेन निष्पादित करने या विशेष सेवाएं प्रदान करने के लिए शुल्क लिया जाता है। शुल्क बिक्री, खरीद, परामर्श और वितरण जैसी सेवाओं के लिए है। एक ब्रोकरेज शुल्क एक दलाल को लेनदेन निष्पादित शेयर दलाल क्या है करने के लिए क्षतिपूर्ति करता है। (यह आमतौर पर होता है, लेकिन हमेशा नहीं) लेन-देन मूल्य का प्रतिशत।

brokerage-fee

ब्रोकरेज फीस उद्योग और ब्रोकर के प्रकार के अनुसार अलग-अलग होती है। अचल संपत्ति उद्योग में, ब्रोकरेज शुल्क आमतौर पर एक हैसमतल खरीदार, विक्रेता या दोनों से शुल्क या मानक प्रतिशत वसूला जाता है।

बंधक दलाल संभावित उधारकर्ताओं को बंधक ऋण खोजने और सुरक्षित करने में मदद करते हैं; उनकी संबद्ध फीस ऋण राशि के 1 प्रतिशत से 2 प्रतिशत के बीच है।

ब्रोकरेज शुल्क का भुगतान करने के प्रकार

ऑनलाइन ट्रेडिंग के उदाहरण पर विचार करें, यहां ब्रोकरेज शुल्क का भुगतान करने के प्रकार हैं:

शुल्क का भुगतान उस व्यापार के प्रतिशत के रूप में किया जाता है जो व्यापारी करता है। शेयरों की एक पूर्व निर्धारित संख्या तक कुछ न्यूनतम शुल्क का विकल्प हो सकता है।

प्रीपेड शुल्क

व्यापार करने के लिए ब्रोकर को अग्रिम रूप से एक पूर्व निर्धारित राशि का भुगतान किया जाता है। इसकी वैधता समय भी हो सकता है। लेकिन, जितनी अधिक राशि का अग्रिम भुगतान किया जाएगा, कुल शुल्क उतना ही कम होगा।

यह अवधारणा प्रीपेड शुल्क से अलग है क्योंकि ब्रोकर को एक बार में एक निश्चित राशि का भुगतान करना होगा। यानी ट्रेडिंग का आकार महत्वपूर्ण नहीं है।

अलग-अलग ब्रोकर अलग-अलग फीस लेते हैं। इसलिए, आवश्यकता के आधार पर, लाभ प्राप्त करने के लिए सही विधि और सही विधि का चयन करना आवश्यक है।

You Might Also Like

Get it on Google Play

AMFI Registration No. 112358 | CIN: U74999MH2016PTC282153

Mutual fund investments are subject to market risks. Please read the scheme information and other related documents carefully before investing. Past performance is not indicative of future returns. Please consider your specific investment requirements before choosing a fund, or designing a portfolio that suits your needs.

How to Choose a Stock Broker – शेयर ब्रोकर का चुनाव कैसे करें?

How to Choose a Stock Broker – शेयर ब्रोकर का चुनाव कैसे करें? स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले आपको एक सही शेयर ब्रोकर चुनना बहुत ही जरूरी होता है। एक शेयर ब्रोकर आपके और स्टॉक एक्सचेंज के बीच में किसी भी शेयर की खरीद बिक्री या फिर लेनदेन के लिए एक मेडिएटर का काम करता है।

एक सही शेयर ब्रोकर चुनना इसलिए भी आवश्यक है, क्योंकि शेयर बाजार में शेयर या फिर स्टॉक की जितनी भी खरीद बिक्री होती है यह इन्हीं शेयर ब्रोकर के माध्यम से होती है। शेयर ब्रोकर एक पंजीकृत शेयर दलाल होता है। अगर आप सही शेयर ब्रोकर का चुनाव नहीं कर पाते। तो शेयर बाजार में अपने लेनदेन पर आपको कई सारी समस्या आ सकती है। आपको अपने ट्रांजिशन पर अधिक शुल्क अदा करना पड़ सकता है। यहां पर कमीशन भी मायने रखती है। लॉन्ग टर्म या लंबी अवधि के दौरान किए गए निवेश में 1% का अंतर भी आपको कहीं लाख रुपए घाटे में डाल सकती है। यही वजह है कि लोग अपने शेयर ब्रोकर को चुनने से पहले कई सारे बातों का ध्यान रखते हैं।

How to Choose a Stock Broker – शेयर ब्रोकर का चुनाव कैसे करें?

शेयर बाजार से जब भी आप शेयर की खरीद बिक्री करते हो, तब आप सीधे स्टॉक एक्सचेंज किया फिर शेयर मार्केट से शेयर नहीं खरीदते हो।

आपको स्टॉक एक्सचेंज से शेयर की खरीद बिक्री करने के लिए एक पंजीकृत दलाल (Broker) की आवश्यकता होती है। आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि एक पंजीकृत ब्रोकर कौन होता है? एक पंजीकृत ब्रोकर SEBI द्वारा रजिस्टर्ड या पंजीकृत होता है।

एक स्टॉक ब्रोकर कोई भी एक व्यक्ति हो सकता है कोई एक कंपनी हो सकती है। या फिर कोई संस्था या ग्रुप हो सकता है। स्टॉक ब्रोकर, की सहायता से ही हम स्टॉक एक्सचेंज पर बिकवाली यानी की खरीद बिक्री का काम करते हैं।

इसके एवज में ब्रोकर को ब्रोकरेज (Brokerage) यानी कि एक तरह का शुल्क या कमीशन हमें दलाल या ब्रोकर को अदा करनी पड़ती है। ब्रोकर की सहायता से ही हम शेयर के आर्डर को स्टॉक एक्सचेंज मार्केट जैसे कि NSE और BSE को देते हैं। जो एक तरह से मध्यस्ता कार्य करते हुए, हमारे आर्डर को पूरा करता है।

शेयर दलाल का क्या-क्या काम होता है? What is the Work of Stock Broker?

जैसा कि हमने ऊपर इसके बारे में बताया है कि एक स्टॉक ब्रोकर, SEBI के अंतर्गत पंजीकृत होता है। जोकि किसी भी निवेशक और स्टॉक मार्केट के बीच में मीडिएटर (Mediator) के रूप में कार्य करती है। यानी कि सीधे शब्दों में कहें तो, शेयर बाजार यानी कि स्टॉक एक्सचेंज में होने वाले खरीद बिकवाली के सभी कार्य कोई भी निवेशक स्टॉक ब्रोकर के माध्यम से ही करता है। एक स्टॉक ब्रोकर SEBI के अंतर्गत पंजीकृत होने के साथ-साथ वह SEBI के नियमों का पालन भी करता है।

चलिए हम इसे एक उदाहरण द्वारा समझते हैं कि किस तरह से निवेशक और स्टॉक मार्केट के बीच में स्टॉक ब्रोकर कार्य करता है। यहां पर आपको इस बात का ध्यान भी रखना है कि स्टॉक मार्केट में जितनी भी लेनदेन होती है। वह आज स्टॉक ब्रोकर के माध्यम से ही होती है।

मान लीजिए कि एक निवेशक को XYZ कंपनी के शेयर की आवश्यकता है। इसके लिए निवेशक अपने स्टॉक ब्रोकर के ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर उस कंपनी के शेयर को खो जेएगा। उस कंपनी के 100 शेयर खरीदने के लिए अपने स्टॉक ब्रोकर को ऑर्डर देता है। स्टॉक ब्रोकर आपके ऑर्डर को स्टॉक एक्सचेंज (Stock Exchange) पर भेजता है। और उपलब्ध शुगर की मात्रा के अनुसार आपका ऑर्डर पूर्ण होता है।

एक अच्छे स्टॉक ब्रोकर का चुनाव कैसे करें? How to Choose a Stock Broker

शेयर बाजार में खरीद बिकवाली सिर्फ पंजीकृत शेयर दलालों के माध्यम से की जाती है। इसलिए निवेशक के लिए सही दलाल का चयन करना बहुत ही जरूरी होता है। शेयर ब्रोकर के मामले में विश्व के सबसे लोकप्रिय निवेशक वारेन बफे की बात काफी रोचक है:-

शेयर ब्रोकर आपका दोस्त नहीं है। वह एक डॉक्टर की तरह होता है, जो मरीज से दवा के बदले शुल्क लेता है। अगर आप सही डॉक्टर के पास नहीं पहुंचेंगे तो खामियाजा आपको ही भुगतना पड़ेगा।

अगर आप एक सही स्टॉक ब्रोकर का चुनाव नहीं करते हैं तो इसका खामियाजा सच में आप को ही भुगतना पड़ेगा। शेयर बाजार में निवेश करने वाले दिग्गज निवेशक इस बात को सही मानते हैं। लेकिन इन सबके बावजूद एक साधारण निवेशक अपने व्यवहार में यह नहीं झलकता कि वे ब्रोकर को लेकर के संजीदा हो। ज्यादातर निवेशक तो अपने शेयर ब्रोकर का नाम, उसकी फॉर्म तथा उसके फोन नंबर से ज्यादा कुछ नहीं जानते और शेयर की खरीद बिक्री के लिए पूरी तरह से अपने ब्रोकर पर ही आश्रित रहते हैं, और सोचते हैं कि ब्रोकर उनके लाभ के लिए ही सब कार्य कर रहा है।

रेटिंग: 4.82
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 172
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *