खास टिप्स

Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं?

Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं?

भारत में बिटकॉइन टैक्स के बारे में सब कुछ

बिटकॉइन एक प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी है, डिजिटल मुद्रा का दूसरा नाम जिसे भौतिक उत्पादों या सेवाओं के लिए व्यापारियों के साथ भुगतान के रूप में बदला जा सकता है। बिटकॉइन धारक एक केंद्रीकृत प्राधिकरण या बैंक को एक मध्यस्थ के रूप में कार्य करने की आवश्यकता के बिना सीधे एक दूसरे के साथ उत्पादों या सेवाओं की खरीद, बिक्री और व्यापार कर सकते हैं, इसके मूल में ब्लॉकचैन प्रौद्योगिकी के लिए धन्यवाद।

--> --> --> --> --> (function (w, d) < for (var i = 0, j = d.getElementsByTagName("ins"), k = j[i]; i

Polls

  • Property Tax in Delhi
  • Value of Property
  • BBMP Property Tax
  • Property Tax in Mumbai
  • PCMC Property Tax
  • Staircase Vastu
  • Vastu for Main Door
  • Vastu Shastra for Temple in Home
  • Vastu for North Facing House
  • Kitchen Vastu
  • Bhu Naksha UP
  • Bhu Naksha Rajasthan
  • Bhu Naksha Jharkhand
  • Bhu Naksha Maharashtra
  • Bhu Naksha CG
  • Griha Pravesh Muhurat
  • IGRS UP
  • IGRS AP
  • Delhi Circle Rates
  • IGRS Telangana
  • Square Meter to Square Feet
  • Hectare to Acre
  • Square Feet to Cent
  • Bigha to Acre
  • Square Meter to Cent
  • Stamp Duty in Maharashtra
  • Stamp Duty in Gujarat
  • Stamp Duty in Rajasthan
  • Stamp Duty in Delhi
  • Stamp Duty in UP

These articles, the information therein and their other contents are for information purposes only. All views and/or recommendations are those of the concerned author personally and made purely for information purposes. Nothing contained in the articles should be construed as business, legal, tax, accounting, investment or other advice or as an advertisement or promotion of any project or developer or locality. Housing.com does not offer any such advice. No warranties, guarantees, promises and/or representations of any kind, express or implied, are given as to (a) the nature, standard, quality, reliability, accuracy or otherwise of the information and views provided in (and other contents of) the articles or (b) the suitability, applicability or otherwise of such information, views, or other contents for any person’s circumstances.

Housing.com shall not be liable in any manner (whether in law, contract, tort, by negligence, products liability or otherwise) for any losses, injury or damage (whether direct or indirect, special, incidental or consequential) suffered by such person as a result of anyone applying the information (or any other contents) in these articles or making any investment decision on the basis of such information (or any such contents), or otherwise. The users should exercise due caution and/or seek independent advice before they make any decision or take any action on the basis of such information or other contents.

crypto पर सरकार कैसे वसूलेगी टैक्स और क्या पूरे क्रिप्टो निवेश पर देना होगा कर? जानिए इससे जुड़े हर सवाल का जवाब

बिजनेस डेस्क: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बार बजट में एक बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि भारत में अब डिजिटल ऐसेट (इसमें क्रिप्टोकरेंसी भी शामिल) पर भी टैक्स लगेगा। क्रिप्टोबाजार में दिलचस्पी दिखाने वाले लोगों ने इस कदम का स्वागत किया क्योंकि यह देश में लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी जैसे बिटकॉइन, एथेरियम और अन्य को एक तरह से कानूनी दर्जा देता है। हालांकि, इसके बाद वित्त मंत्री ने जब Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? कहा कि सभी क्रिप्टोकरेंसी से होने वाली आय पर 30 प्रतिशत तक का भारी कर लगेगा, तो ये कई लोगों को निराश कर गया। दरअसल यह म्युचुअल फंड या यहां तक ​​कि शेयरों से होने वाली आय पर आप जितना भुगतान करते हैं, उससे भी कहीं अधिक है।

हालांकि बजट भाषण के बाद सरकार की ओर से ये भी साफ किया गया कि क्रिप्टो पर नुकसान होता है तो अन्य ऐसेट के जरिए भरपाई की कोई व्यवस्था नहीं है। वित्त मंत्री ने डिजिटल संपत्ति के लेन-देन पर एक प्रतिशत टीडीएस लगाने का भी प्रस्ताव किया। सीतारमण ने लोकसभा में वित्त वर्ष 2022-23 का बजट पेश करते हुए कहा कि क्रिप्टो और डिजिटल संपत्तियों में उपहार पर कर लगेगा। संसद में बजट पारित होने के बाद कर प्रस्ताव एक अप्रैल से अमल में आएगा। निर्मला सीतारमण की ओर से क्रिप्टो पर लगाए गए टैक्स को लेकर घोषणाओं के बाद अब भी कई सवाल इसका इस्तेमाल कर रहे लोगों के मन में घूम रहे हैं।

आइए आज हम आपको इसके बारे में विस्तार से जानकारी देने की कोशिश करते हैं-

क्रिप्टोकरेंसी पर कैसे लगेगा टैक्स
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि क्रिप्टोकरेंसी से होने वाली आय पर 30 प्रतिशत कर लगाया जाएगा। उदाहरण के लिए यदि आप अपने बिटकॉइन बेचकर 100 रुपए कमाते हैं, तो आपको सरकार को क्रिप्टो टैक्स के रूप में 30 रुपए का भुगतान करना होगा। इंडिया टुडे के अनुसार सेबी के पंजीकृत वित्तीय सलाहकार जितेंद्र सोलंकी का मानना ​​है कि क्रिप्टोकरेंसी पर 30 प्रतिशत कर लगाकर सरकार क्रिप्टो निवेश को संभवत: हतोत्साहित करना चाहती है।

क्या मुझे अपने पूरे क्रिप्टो निवेश पर टैक्स का भुगतान करना होगा?
नहीं, आपको केवल अपनी आय या क्रिप्टोकरेंसी से लाभ पर ही कर का भुगतान करना होगा। उदाहरण के लिए यदि आपने 5,000 रुपए की क्रिप्टोकरेंसी खरीदी है और 5,500 रुपये में बेचते हैं तो केवल 500 रुपये पर 30 प्रतिशत कर लगेगा, न कि पूरे निवेश पर ये लागू होगा।

लॉन्ग टर्म लॉस के खिलाफ सेट ऑफ का क्या मतलब है?
मौजूदा आयकर कानून करदाताओं को लंबी अवधि के पूंजीगत लाभ में अपने दीर्घकालिक नुकसान को समायोजित करने की अनुमति देते हैं। दूसरे शब्दों में यह करदाताओं को उनके दीर्घकालिक लाभ पर कर का भुगतान करने से छूट देता है। हालांकि, क्रिप्टो आय के मामले में ऐसा संभव नहीं होगा।

अगर मैंने किसी को बिटकॉइन गिफ्ट किया है तो
नहीं, वित्त मंत्री ने साफ किया है कि केवल क्रिप्टोकरेंसी प्राप्त करने वाले व्यक्ति पर कर लगाया जाएगा। इसलिए अगर आप अपने दोस्त को 1 बिटकॉइन गिफ्ट कर रहे हैं तो उसे उस ट्रांजैक्शन पर टैक्स देना होगा।

कौन से लेनदेन पर 1% TDS लगेगा?
वित्त मंत्री ने स्पष्ट किया कि होने वाले सभी क्रिप्टो लेन-देन पर 1 प्रतिशत कर कटौती होगी।

क्या टैक्स का मतलब है कि क्रिप्टो करेंसी को सरकार ने मान्यता दे दी?
नहीं, भारत में अभी भी कोई क्रिप्टो को लेकर कोई कानून नहीं है। टैक्स लगाने का मतलब है कि यह क्रिप्टो लेनदेन को वैधता देता है और सरकार ऐसे में सभी लेनदेन की निगरानी कर सकती है। आसान शब्दों में, यह भारत में क्रिप्टोकरेंसी को वैध बनाता है।

क्या बिटकॉइन अब एक मुद्रा है?
नहीं, वित्त मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया है कि केवल भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी डिजिटल मुद्रा को मुद्रा के रूप में मान्यता दी जाएगी। बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी को केवल डिजिटल संपत्ति के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इसका मतलब है कि जब आप उनमें निवेश कर सकते हैं, तो उनका उपयोग चीजों को खरीदने के लिए नहीं किया जा सकता है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Vastu: भूल से भी इन जगहों पर न बनाएं घर का पूजा स्थान, वरना.

Vastu: भूल से भी इन जगहों पर न बनाएं घर का पूजा स्थान, वरना.

Masik Shivratri: आज मासिक शिवरात्रि पर करें ये उपाय, रुके हुए काम होंगे पूरे

Masik Shivratri: आज मासिक शिवरात्रि पर करें ये उपाय, रुके हुए काम होंगे पूरे

सीवान में दर्दनाक हादसाः पोल से टकराने के बाद स्कॉर्पियो में लगी भीषण आग, 3 लोगों की जलने से मौत

सीवान में दर्दनाक हादसाः पोल से टकराने के बाद स्कॉर्पियो में लगी भीषण आग, 3 लोगों की जलने से मौत

आतंकी रिंदा की मौत पर ISI का हैरान करने वाला दावा, बना चर्चा का विषय

आतंकी रिंदा की मौत पर ISI का हैरान करने वाला दावा, बना चर्चा का विषय

गुजरात के चुनाव प्रचार पर जयराम, शुक्ला करेंगे 68 प्रत्याशियों के साथ बैठक, पढ़ें HP की 10 बड़ी खबरें

बिटकॉइन (Bitcoin) मुद्रा क्या है और कैसे काम करती है?

वर्तमान समय में सबसे ज्यादा चर्चा में रहने वाली मुद्रा बिट कॉइन (Bitcoin) है. बिटकॉइन डिजिटल मुद्रा का एक रूप है सरल शब्दों में, यह एक गणितीय संरचना है जो एल्गोरिदम पर चलता है. इसे किसने विकसित किया था इसके बारे में कोई भी ठोस सबूत नही है लेकिन छदम रूप से इसके संस्थापक का नाम ‘सोतशी नाकामोतो’ माना जाता हैl Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? जिस तरह रुपए, डॉलर और यूरो खरीदे जाते हैं, उसी तरह बिटकॉइन की भी खरीद होती है। ऑनलाइन भुगतान के अलावा इसको पारम्परिक मुद्राओं में भी बदला जाता है.

Bitcoin currency

बिटकॉइन एक तरह की एक डिजिटल मुद्रा (digital currency) और स्वतन्त्र मुद्रा है | इस पर किसी भी संस्था या देश का अधिकार नहीं है| इसका मालिक, भौतिक (physical) रूप से चीजों की खरीदारी नहीं कर सकता बल्कि बिटकॉइन का उपयोग ऑनलाइन ही क्या जा सकता है.

इसका अधिग्रह होने पर अधिकारी सिर्फ ऑनलाइन शॉपिंग या हस्तांतरण के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं| इसका उत्पादन स्वतन्त्र रूप से कंप्यूटर प्रोसेसिंग प्रणाली “Mining” के द्वारा किया जाता है| Miners विशेष प्रकार के हार्डवेयर का उपयोग करके विभिन्न प्रकार के लेन देन को पूरा करते है और नेटवर्क को सुरक्षित करते है जिनके बदले में नए बिटकॉइन बनते है जो miners को मिलते है|

जिस तरह रुपए, डॉलर और यूरो खरीदे जाते हैं, उसी तरह बिटकॉइन की भी खरीद होती है। ऑनलाइन भुगतान के अलावा इसको पारम्परिक मुद्राओं में भी बदला जाता है। बिटकॉइन की खरीद-बिक्री के लिए एक्सचेंज भी हैं, लेकिन उसका कोई औपचारिक रूप नहीं है। जबकि गोल्‍डमैन साक्‍स और न्‍यूयॉर्क स्‍टॉक एक्‍सचेंज तक ने इसे बेहद तेज और कुशल तकनीक कहकर इसकी तारीफ की है।

इसलिए दुनियाभर के बिजनेसमैन और कई कंपनियां फाइनैंशियल ट्रांजेक्‍शन के लिए इसका इस्‍तेमाल खूब कर रहे हैं। इसे किसने विकसित किया था इसके बारे में कोई भी ठोस सबूत नही है लेकिन छदम रूप से इसके संस्थापक का नाम सोतशी नाकामोतो माना जाता हैl

(बिटकॉइन के संस्थापक सोतशी नाकामोतो)

founder-bitcoins

Image source:Daily Mail

1- इसकी शुरुआत 3 जनवरी 2009 को हुई थी।

2- यह विश्व का प्रथम पूर्णतया खुला भुगतान तंत्र है।

3- इस समय दुनिया भर में 1 करोड से अधिक बिटकाइन हैं, जिनका मूल्य 55 हज़ार करोड रुपए है।

बिटकॉइन का इस्तेमाल कौन कर रहा है ?

दुनिया का पहला ओपन पेमेंट नेटवर्क बिटकॉइन चर्चा में है। क्‍योंकि, फाइनैंशियल ट्रांजैक्‍शन के लिए यह सबसे तेज और कुशल मानी जा रही है। इसलिए बिटकॉइन को वर्चुअल करंसी भी कहा जाता है।

दरअसल बिटकॉइन एक नई टेक्नोलॉजी है जि‍सका इस्तेमाल ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा सकता है। हजारों कंपनियों, लोगों और गैर लाभकारी संगठन ने ग्लोबल बिटकॉइन सिस्टम को अपनाया है। हालांकि इस मुद्रा का व्यापार, निर्माण और नियंत्रण अन्य बिटकॉइन उपयोगकर्ताओं द्वारा किया जाता है l

कोई केंद्रीय संस्था नहीं है

बिटकॉइन को किसी संस्था द्वारा नियंत्रित नही किया जाता है Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? जिसका अर्थ है कि इसके ऊपर सरकार या बैंक का कोई अधिकार नही हैl इनका उपयोग या खरीदारी किसी के द्वारा भी की जा सकती हैl चूंकि इनके व्यापार को रोका नही जा सकता है इसलिए कोई भी बैंक या प्राधिकरण आपको इंटरनेट द्वारा किसी और को अपने बिटकॉन्स भेजने से रोक नही सकता है। लेकिन इसमें एक दुविधा यह भी है कि यदि आपके साथ कोई धोखा होता है तो आप किसी के पास भी इसके बारे में शिकायत दर्ज नही करा सकते हैं l

इसका मूल्य कितना होता है ?

दुनिया भर में Bitcoins के वितरण की सीमा मात्र 210,00000 है यानि कि कुल मिलकर पूरे विश्व में 210,00000 ही बनाए जाएँगे उसके बाद इसका उत्पादन बंद हो जाएगा| कुछ ऐसी भी मूलभूत प्रक्रियाएं हैं जो इसे जटिल बनाती हैं और अधिकृत व्यक्ति को इसे समझने के लिए तकनीकी जानकारी होना आवश्यक हो जाता हैl

जैसा कि पहले ही बताया गया है कि यह एक छदम मुद्रा है जिसने 2013 में बहुत प्रसिद्धि पाकर अंतरराष्ट्रीय बाजार में उठा पटक मचा दी थी l दरअसल तीन साल पहले वजूद में आई बिटकॉइन दुनिया की सबसे महंगी करंसी बन गई है। इस समय एक बिटकॉइन को ऑनलाइन या बाजार में तकरीबन 790676 रुपये में बेचा जा सकता है। इसका मूल्य इसकी मांग और पूर्ती के बीच के समन्वय पर पड़ता है या खरीदने वाला जितना मूल्य देने को तैयार हो जाये l

(वर्तमान में बिट कॉइन का मूल्य इस प्रकार है)

bitcoin price 2017

इसकी कीमत हर देश में अलग अलग होती हैl चूँकि इसका चलन विश्व बाज़ार में है, इसलिए इसकी कीमत हर देश में इसकी मांग के अनुसार होती है| इस समय एक बिटकॉइन का खरीदी मूल्य 790676 रूपए है वहीँ अमेरिका में एक बिटकॉइन की कीमत $604 है आज बिटकॉइन का चलन विश्व बाज़ार में बहुत तेज़ी पर हैl लेकिन इस बाजार में अस्थिरता बहुत अधिक होती हैl

बिटकॉइन की बिक्री और खरीद कैसे Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? की जाती है?

डिजिटल करंसी बिटकॉइन का उपयोग करने वाले बिजनेसमैन की संख्‍या लगभग 30 लाख बताई जा रही है और जूपिटर रिसर्च के मुताबिक यह संख्‍या 2019 तक 50 लाख तक पहुंच सकती है।

बिटकॉइन को हासिल करने के लिए आपको बहुत मेहनत करने की ज़रूरत नहीं है आप खनन (mining ) जैसे विभिन्न तरीकों के माध्यम से डिजिटल मुद्रा कमा सकते हैं ( बिटकॉइन की संरचना करने के लिए एक विशेष सॉफ़्टवेयर की मदद ली जा सकती है जिसे बिटकॉइन बनाने वाला सॉफ्टवेयर कहा जाता (Bitcoin Miner) है l यह सॉफ्टवेयर बिटकॉइन नेटवर्क में आपके लिए एक जगह को सुरक्षित कर लेगाl

how-bitcoins-works

Image source:How-To Geek

कम्प्यूटर नेटवर्कों के जरिए इस मुद्रा से बिना किसी माध्यम के ट्रांजेक्‍शन किया जा सकता है। वहीं, इस डिजिटल करंसी को डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है। बिटकॉइन को क्रिप्टोकरेंसी भी कहा जाता है। जबकि जटिल कम्‍प्‍यूटर एल्गोरिथम्स और कम्‍प्‍यूटर पावर से इस मुद्रा का निर्माण किया जाता है जिसे माइनिंग कहते हैं।

बिटकॉइन को किसी को अपनी सेवा देकर भी सैलरी के रूप में कमाया जा सकता है l यदि आप चाहें तो इसे वास्तविक मुद्रा जैसे डॉलर और यूरो से भी बदल सकते हैं l

साधारण मुद्रा की तरह बिटकॉइन को भी आसानी से खर्च किया जा सकता है l इसका इस्तेमाल आप सामान खरीदने के लिए, कुछ गैर-सरकारी संगठनों को दान करने या उन्हें किसी और को भेजने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं l कुछ ऐसी विभिन्न साइटें जैसे विकिलीक्स, पी 2 पी फाउंडेशन, वर्डप्रेस.कॉम और बिटकॉइन.ट्रेवल हैं जो बिटकॉइन को स्वीकार करते हैं l अभी हाल ही में दुनिया में आतंक मचाने वाले रैन्समवेयर वायरस को बनाने वाले हैकरों ने फिरौती के तौर पर bitcoin मुद्रा की ही मांग की हैl

भारत में भारतीय रिज़र्व बैंक लोगों को इस मुद्रा में निवेश करने से रोक रहा है लेकिन फिर भी लोग इसमें बड़ी संख्या में निवेश कर रहे हैं लेकिन भारत सरकार इस bitcoin मुद्रा के दोषों को देखते हुए इसके वाणिज्यिक प्रसार को रोकने के लिए जल्दी ही कानून बनाने की बात सोच रही है l ज्ञातब्य है कि भारतीय रिज़र्व बैंक पहले से ही इस मुद्रा में किसी भी प्रकार के निवेश को गैर कानूनी बताता आया है और उसने लोगों को इस मुद्रा से दूर रहने की सलाह भी दी है क्योंकि यह मुद्रा, बैंकिंग नियमन अधिनियम,1934 के नियमों का पालन भी नही करती है l

Ripple Cryptocurrency (XRP) Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? क्या है?

Ripple Cryptocurrency (XRP) क्या है?

रिपल Ripple एक प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी Cryptocurrency होती है और यह डिजिटल करेंसी (XRP) होती है। क्योंकि इसका उपयोग डिजिटल रूप में ही किया जाता है। पिछले कुछ सालों से क्रिप्टोकरेंसी मुद्राओं की लोकप्रियता बढ़ी है। यह सिर्फ डिजिट के रूप में ऑनलाइन रहती है। ये डिजिटल मुद्रा digital currency इनक्रिप्टेड यानी कोडेड coded होती हैं। Ripple के द्वारा बैंकिंग लेनदेन का देश विदेश में आसानी से भुगतान हो जाता है तथा क्रिप्टो करेंसी को खरीदना तथा बेचना भी काफी सरल होता है। इसे डिजिटल मनी digital money, वर्चुअल मनी virtual money भी कहा जाता है।

Podcast

Continue Reading..

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर आजकल खूब चर्चा हो रही है। यह करेंसी इस समय काफी अच्छी करेंसी मानी जा रही है और इसका उपयोग भी बहुत अधिक हो रहा है। इस करेंसी का उपयोग बहुत से देशों में किया जाता है, क्योंकि यह बहुत ही ज्यादा विकसित हो रहा है। क्रिप्टोकरेंसी को आप अपनी तिजोरी में नहीं रख सकते, न ही बैंक के लॉकर में रख सकते हैं। क्योंकि यह Digits के रूप ऑनलाइन रहती है। आज की बात करें तो एक Ripple Cryptocurrency (XRP) के माध्यम से सभी प्रकार के लेनदेन बैंकिंग प्रणाली विदेशी भुगतान Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? तथा सभी मुद्राओं में व्यापार करना आसान हो चुका है। चलिए विस्तार से जानते हैं कि Ripple Cryptocurrency से ये सब कैसे संभव है, क्या है रिप्पल क्रिप्टोकरेंसी और रिपल करेंसी कैसे कार्य करती है।

क्या है Ripple Cryptocurrency

रिप्पल क्रिप्टोकोर्रेंसी XRP की शुरुआत लंदन में 2003 Jed Mccaleb जेड मैकलेब जो की एक अमेरिकन प्रोग्रामर हैं, के द्वारा की गई थी। रिपल एक प्रकार की डिजिटल करेंसी (XRP) होती है, क्योंकि इसका उपयोग डिजिटल रूप में ही किया जाता है। XRP के द्वारा हम कई प्रकार की करेंसी को सम्मिलित करके व्यापार कर सकते हैं। जैसे कि एथेरियम कॉइन ethereum coin, रिप्पल कॉइन Ripple coin, बिटकॉइन bitcoin, लाइट कॉइन इत्यादि और ऐसी ही और भी क्रिप्टो करेंसी इस समय मार्केट में मौजूद है। इसका उपयोग करना बहुत ही आसान होता है, जिस प्रकार हम अन्य क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज या खरीद सकते हैं, ठीक उसी प्रकार रिप्पल कॉइन को भी खरीदा जा सकता है। आसान भाषा में कहें तो क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल कैश प्रणाली है, जो कम्प्यूटर एल्गोरिदम Algorithm पर बनी है। वैश्विक बाजार में इसके आने का मुख्य उद्देश्य बाजार में होने वाले लेनदेन के निर्माण को सस्ता और सरल करना है। यह मौजूदा समय के हिसाब से डिजाइन किया गया है। जो कि Banking Cryptocurrency के रूप में काफी अच्छी भुगतान व्यवस्था है। XRP का पेमेंट केवल मात्र 4 सेकंड में पूरा हो जाता है और इस प्रकार xrp प्रतिदिन लगभग 2000 लेन देन प्रति सेकंड संभाल सकता है।

रिपल करेंसी कैसे कार्य करता है

रिपल करेंसी Ripple currency अन्य क्रिप्टो करेंसी की तरह ही कार्य करता है लेकिन इसके कार्य करने का तरीका कुछ अलग है। ये तो हम जानते हैं कि रिपल करेंसी एक प्रकार की डिजिटल करेंसी (XRP) होती है। यह एक प्रकार का open payment network होता है, जिसका उपयोग करके हम करेंसी को किसी अन्य व्यक्ति को ट्रांसफर करते हैं। यह टोकन आधारित प्रणाली token based system के अंतर्गत आता है। इसमें DLT Technic का प्रयोग किया गया है। इसमें यह रिप्पल नेट के ढांचे के भीतर के कई नए लेन देन को स्थापित करता है इस प्रोटोकॉल का नाम रिप्पल प्रोटोकॉल कंसेंसस एल्गोरिथ्म Ripple Protocol Consensus Algorithm work के नाम पर रखा गया है। इसमें विशेष प्रकार के सर्वर और XRP टोकन सम्मिलित होते हैं। यह एक प्रकार की Highly Cryptocurrency है और रिप्पल हाईली सिक्योर secure है। जिसका independence cover द्वारा संचालन किया जाता है।

रिपल करेंसी के लाभ और उपयोग

रिप्पल का उद्देश्य मौजूदा बैंकिंग प्रणाली को और अच्छा बनाना है जहां विदेशी भुगतान overseas payment से पूंजी तथा सोना और यहां तक कि हवाई मेल की सुविधाएं मिलती हैं। इसके निर्माण के पीछे यह लक्ष्य इस तरह के लेनदेन को और अधिक जल्दी तथा सस्ता बनाना है। Ripple के द्वारा बैंकिंग लेनदेन का देश विदेश में आसानी से भुगतान हो जाता है तथा क्रिप्टो करेंसी को खरीदना तथा बेचना भी काफी सरल होता है। यह लेनदेन की प्रक्रिया को तेजी से करना तथा वित्तीय समस्याओं financial problems को हल करने में कारगर साबित हो रहा है। यह एक डिजिटल करेंसी digital currency होती है, इसका उपयोग करके हम किसी भी व्यक्ति को या स्वयं के बैंक में बड़ी आसानी से भेज सकते हैं। यह अन्य Cryptocurrency या फिर bitcoin की अपेक्षा काफी तेज एवं सरल तरीके से कार्य करता है। रिपल करेंसी का उपयोग अपने पैसों को छिपाकर रखने के उपयोग में किया जाता है। यह विश्व में किसी भी प्रकार की मुद्रा के साथ व्यापार करने की क्षमता रखते हैं। इसका उपयोग इसलिए अधिक हो रहा है, क्योंकि यह बहुत ही सुरक्षित एवं सरलता पूर्वक कार्य करने वाली करेंसी है। यह वित्तीय व्यवस्था को बढ़ावा boost the financial system देता है तथा अर्थव्यवस्था में काफी फायदेमंद साबित होता है इसी वजह से लोगों का ध्यान XRP की तरफ ज्यादा जा रहा है। अब इसका उपयोग इसलिए अधिक हो रहा है, क्योंकि यह बहुत ही सुरक्षित एवं सरलता पूर्वक कार्य करने वाला करेंसी है।

रिप्पल करेंसी की कीमत, कहाँ से खरीदें और पैसे कैसे कमाएं

रिप्पल करेंसी Ripple currency की कीमत अन्य क्रिप्टो करेंसी Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? की तुलना में बहुत ही कम होती है लेकिन रिपल करेंसी Ripple Cryptocurrency की कीमत दिन प्रतिदिन धीरे-धीरे बढ़ती ही जा रही है। इसमें लोगों को काफी फायदा हो रहा है। इसमें मुनाफा profit भी अधिक होता है। अब अगर इस करेंसी currency को खरीदना है तो कैसे खरीदें,यह भी जानना जरुरी है। इस रिप्पल कॉइन को खरीदने के लिए बहुत सी वेबसाइट website हैं। इनके द्वारा हम रिपल कॉइन को बड़ी ही आसानी से खरीद सकते Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? हैं। कुछ वेबसाइट हैं जैसे -बाययूकॉइन (buyUcoin.com), कॉइनडेल्टा (coindelta.com), बिट इंडिया (bitindia.com) आदि वेबसाइट का उपयोग करके हम रिप्पल कॉइन को खरीद सकते हैं। रिप्पल कॉइन से पैसे कमाना अब काफी आसान हो गया है। जैसे कि आपको पता है कि रिप्पल कॉइन ripple coin की कीमत समय-समय पर बढ़ती एवं घटती रहती है। हमें इसके लिए रिप्पल कॉइन की मार्केट में बढ़ती एवं घटती कीमत पर ही ध्यान देना है। हमें रिप्पल कॉइन को तब ज्यादा खरीदना चाहिए जब रिपल कॉइन की कीमत मार्केट में बहुत ही कम हो जाए और इसे अपने रिप्पल वॉलेट ripple wallet में बहुत ही सुरक्षा पूर्वक स्टोर कर लेनी चाहिए। फिर जब रिपल कॉइन की कीमत मार्केट में अधिक हो तब हम अपने रिप्पल कॉइन को बेच सकते हैं। इस तरह से आप अधिक मुनाफा more profit कमा सकते हैं।

Bitcoin price in india : बिटकॉइन तोड़ रहा है सारे रिकार्ड, कितना सुरक्षित है निवेश ?

बिटकॉइन डिजिटल करंसी है यह किप्टोग्राफी नियमों के आधार पर काम करती है. इसे आप छू नहीं सकते, अपने पास रख नहीं सकते. इसकी शुरुआथ साल 2009 में हुई थी . इसकी शुरुआत एलियस सतोशी नाम के शख्स ने की थी. इस तरह के पैसों के लेन देन में बैंक की जरूरत नहीं पड़ती. आप इन पैसों से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं

बिटकॉइन तोड़ रहा है सारे रिकार्ड

भारत सरकार सहित दुनिया भर के कई देश हैं जो क्रिप्टोकरेंसी को लेकर अलग मत रखते हैं. बिटकॉइन पहली बार 60 हजार डॉलर के स्तर को पार कर गया है. बिटकॉइन की कीमत तेजी से बढ़ रही है . इस साल बिटकॉइन की कीमत और बढ़ने की संभावना जतायी जा रही है अभी एक बिटकॉइन की कीमत 43 लाख रुपये हैं. कई कंपनियों में इसमें निवेश किया है जिस वजह से इसकी कीमत बढ़ रही है. अगर यह पढ़कर बिटकॉइन में पैसे लगाने की सोच रहे हैं तो इसमें रिस्क ज्यादा है.

नहीं पड़ती बैंक की जरूरत, जानें कैसे शुरू हुआ बिटकॉइन

बिटकॉइन डिजिटल करंसी है यह किप्टोग्राफी नियमों के आधार पर काम करती है. इसे आप छू नहीं सकते, अपने पास रख नहीं सकते. इसकी शुरुआथ साल 2009 में हुई थी . इसकी शुरुआत एलियस सतोशी नाम के शख्स ने की थी. इस तरह के पैसों के लेन देन में बैंक की जरूरत नहीं पड़ती. आप इन पैसों से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं

क्यों है निवेश में ज्यादा खतरा

अगर आप बिटकॉइन में निवेश की सोच रहे हैं तो आपको kraken वेबसाइट पर जाकर अकाउंट बनाना पड़ेगा. इसमें आपको सारी जानकारी देनी होगी जिसमें आपकी पर्सनल डिटेल औऱ ईमेल आईडी भी देनी होगी. अकाउंट वेरिफाइ होने के बाद आप ट्रेडिंग मेथड का Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं? चयन करना होगा. ट्रेडिंग में बिटॉइन की कीमत की पूरी हिस्ट्री होती है.

यहां से आप बिटकाइन का आर्डर देकर खरीद सकते हैं. इसकी कीमत में लगातार बदलाव होता है और इसका अंदाजा लगा पाना मुश्किल है कि कीमत बढ़ेगी या घट जायेगी इसलिए इसमें निवेश खतरनाक साबित हो सकता है. पिछले पांच सालों में इसके उतार चढ़ाव पर नजर डालें तो पायेंगे इसमें 40-50 फीसदी गिरावट आयी है. साल 2013 के अप्रैल महीने में बिटकॉइन की कीमत एक ही रात में 70 फीसदी से ज्यादा गिर गयी थी.

भारत में बैन है बिटकॉइन

भारत में बिटकॉइन पर निवेश करना गैरकानूनी है लेकिन बहुत सारे लोग है जो इसमें निवेश करते हैं . इसमें ज्यादातर ऐसे लोग हैं जो बड़े व्यापारी है और विदेशों में भी व्यापार करते हैं. सरकार इसलिए भी इसे असुरक्षित मानती है क्योंकि इसके पास कोई डाटा नहीं है. सरकार इसमें निवेश को खतरनाक बताती है और रिजर्व बैंक ने भी बिटकॉइन पर निवेश को लेकर कहा है कि यह सुरक्षित नहीं है.

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

रेटिंग: 4.98
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 677
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *