खास टिप्स

ADRs का वास्तविक

ADRs का वास्तविक
परिमेय संख्या का दशमलव प्रसार ( Decimal representation of rational number ) – यदि किसी परिमेय संख्या p/q में जहाँ , m और n पूर्ण संख्या है | तो परिमेय संख्या का दशमलव प्रसार शांत होगा अन्यथा अशांत |

केरल: प्रिया वर्गीज के चयन में सभी प्रक्रियाओं का पालन किया गया: कुलपति

कन्नूर (केरल)। केरल उच्च न्यायालय के एक मलयालम एसोसिएट प्रोफेसर की प्रस्तावित नियुक्ति के खिलाफ एक याचिका को स्वीकार करने के एक दिन बाद कन्नूर विश्वविद्यालय ने शुक्रवार को दावा किया कि चयन में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा अनिवार्य सभी प्रक्रियाओं का पालन किया गया था।

उसने संकेत दिया कि विश्वविद्यालय अपील नहीं करेगा। कन्नूर विश्वविद्यालय के कुलपति गोपीनाथ रवींद्रन ने कहा कि मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के निजी सचिव के. के. रागेश की पत्नी प्रिया वर्गीज के चयन से पहले कानूनी राय मांगी गई थी।

उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा कि हालांकि यूजीसी से उनकी योग्यता के बारे में स्पष्टीकरण मांगा गया था, लेकिन आज तक कोई जवाब नहीं मिला है और अगर शीर्ष शैक्षणिक निकाय ने उनके पत्र का जवाब दिया होता, तो यह मुद्दा नहीं बिगड़ता।

रवींद्रन ने कहा, ‘‘यूजीसी को पत्र इस बिंदु पर स्पष्टीकरण के लिए भेजा गया था कि क्या राज्य सरकार द्वारा संकाय विकास कार्यक्रम (एफडीपी) के तहत प्रतिनियुक्ति पर पीएचडी शोध के लिए उम्मीदवार द्वारा दी गई अवधि को एसोसिएट प्रोफेसर पद के लिए सीधी भर्ती के वास्ते शिक्षण शोध अनुभव के रूप में माना जाना चाहिए।’’

अदालत ने कहा था कि संबंधित उम्मीदवार प्रिया वर्गीज के पास यूजीसी विनियमन 2018 के तहत निर्धारित प्रासंगिक अवधि का वास्तविक शिक्षण अनुभव नहीं है। अदालत ने कहा था, ‘‘शिक्षण अनुभव केवल एक वास्तविक तथ्य हो सकता है, न कि कल्पना या अनुमान। इसे वास्तविक होना चाहिए और इसका अनुमान या निहितार्थ नहीं लगाया जा सकता है।”

रवींद्रन ने कहा कि विस्तृत फैसले की प्रति प्राप्त होने के बाद उच्च न्यायालय के निर्णय पर आगे की कार्रवाई तय की जाएगी। यह पूछे जाने पर कि क्या विश्वविद्यालय वर्तमान फैसले के खिलाफ अपील करेगा, उन्होंने मना करते हुए कहा कि इसके लिए बहुत सारा पैसा खर्च करना होगा, लेकिन आगे की किसी भी कार्रवाई के बारे में निर्णय, फैसले की प्रति प्राप्त होने के बाद किया जाएगा।

रवींद्रन ने कहा कि फैसले का शैक्षणिक क्षेत्र में दूरगामी प्रभाव होगा और एफडीपी के तहत शोध करने वाले संकाय के लिए झटका होगा। वर्गीज को विश्वविद्यालय द्वारा मलयालम विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर के रूप में नियुक्त करने का प्रस्ताव दिया गया था, और इसे लेकर राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया था, क्योंकि उनके (वर्गीज के) शोध अंक न्यूनतम थे, जबकि साक्षात्कार के दौर में उन्हें सर्वाधिक अंक मिले थे और उन्हें चयन प्रक्रिया में प्रथम घोषित किया गया था।

राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति के तौर पर राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने उनकी नियुक्ति पर रोक लगा दी थी और आरोप लगाया था कि कन्नूर विश्वविद्यालय का उन्हें नियुक्त करने का कदम “राजनीतिक” था।

वास्तविक संख्याएँ | Real Numbers | Class 9th Math | Hindi Medium

वास्तविक संख्याएँ (Real Numbers ) – वे संख्याएँ जिनका वास्तविक मान हो और जिन्हें संख्या रेखा पर प्रदर्शित किया जा सकता है , वास्तविक संख्याएँ कहलाती हैं | या , परिमेय और अपरिमेय संख्याओं के संग्रह को वास्तविक संख्याएँ कहते है |वास्तविक संख्याओं के संग्रह को R से सूचित किया जाता है | जैसे- √2 , 2/3 , -7 , -3/7 , 0 ………………………….

प्राकृत संख्याएँ ( Natural Numbers ) – जो संख्याएँ 1 से शुरू होकर गिनती की और बढती है , उसे प्राकृत संख्याएँ कहते है | प्राकृत संख्याओ के संग्रह को N से सूचित किया जाता है | जैसे – 1, 2, 3 ,4 , 5 ……………………

पूर्ण संख्याएँ ( Whole Numbers ) – 0 तथा प्राकृत संख्याओ के समिलित रुप को पूर्ण संख्याएँ कहते है | पूर्ण संख्याओ के संग्रह को W से सूचित किया जाता है | जैसे – 0, 1, 2, 3, 4 , 5,………………………………

सम संख्याएँ ( Even Numbers ) – 2 से विभज्य प्राकृत संख्याएँ ,सम संख्याएँ कहलाती हैं | सम संख्याओं के संग्रह को E से सूचित किया जाता है | जैसे – 2, 4, 6 , 8 , 10 ……………………………

विषम संख्याएँ ( Odd Numbers ) – 2 से विभज्य नहीं होने वाली प्राकृत संख्याएँ ,विषम संख्याएँ कहलाती हैं |विषम संख्याओं के संग्रह को O से सूचित किया जाता है | जैसे- 1, 3, 5 , 7 , 9 ………………………

अभाज्य संख्याएँ या रूढ़ संख्याएँ ( Prime Numbers ) – 1 से बड़ी प्राकृत संख्याएँ , जो 1 या अपने आप को छोड़कर किसी संख्या से विभाज्य न हो , अभाज्य संख्याएँ कही जाती है | जैसे – 2, 3, 5 , 7 ,11 , 13 , 17………………..

यौगिक संख्याएँ ( Composite Numbers ) -वे प्राकृत संख्याएँ , जो 1 या अपने को छोड़कर किसी दूसरी दूसरी प्राकृत संख्या से भी विभाज्य हो , यौगिक संख्याएँ कहलाती है | जैसे – 4, 6, 8, 9, 10, 12 , 14 …………….

असहभाज्य संख्याएँ ( Co-prime Numbers ) – दो प्राकृत संख्याएँ असहभाज्य कहलाती है , यदि उनका ल.स . ( H.C.F ) 1 के बराबर हो | जैसे – ( 4, 9 ) , ( 9, 16 ) , (2 , 6 )………….

पूर्णांक ( Integers ) – प्राकृत संख्याओ के संग्रह में 0 तथा ऋण पूर्णांको < -1, -2 , -3 ,-4 ………….>को शामिल करने से प्राप्त संख्याएँ , पूर्णांक कहलाती है | पूर्णांको को I या Z से सूचित किया जाता है |

पूर्णांक तीन प्रकार के होते है –

  1. धनात्मक पूर्णांक (Positive Integers ) -
  2. शून्य पूर्णांक ( Zero Integers ) –
  3. ऋणात्मक पूर्णांक ( Negative Integers ) –

परिमेय संख्या (Rational Number ) – वह संख्या जो p /q के रूप में हो , जहाँ p तथा q पूर्णांक है और q ≠ 0 हो | तो उसे परिमेय संख्या कहते है | परिमेय संख्याओ के संग्रह को Q से सूचित किया जाता है | जैसे – 3/4 , 2/3 , -1/7 , 0 , 2 ……………

या , वह संख्या जिसका दशमलव प्रसार शांत (Terminating ) या अशांत आवर्ती ( Non -terminating repeating ) हो , उसे परिमेय संख्या कहते है |

भिन्न ( Fraction ) – वह संख्या जो p /q के रूप में हो , जहाँ p तथा q पूर्णांक है और q ≠ 0, 1 हो | तो उसे भिन्न कहते है | जैसे – 1 /4 , 2/3 , -1/7………….

समतुल्य परिमेय संख्याएँ ( Equivalent rational numbers ) – यदि किसी परिमय संख्या के अंश और हर में किसी शुन्योतर ( Non-zero ) संख्या से गुणा या भाग किया जाय , तो प्राप्त संख्या दी गयी परिमय संख्या के समतुल्य कहलाती है |

अपरिमेय संख्या ( Irrational Number ) – उस संख्या को अपरिमेय संख्या कहते हैं जिसे p/q के रूप में नही लिखा जा सके , जहाँ p और q पूर्णांक है तथा q ≠0 है | अपरिमेय संख्याओ के संग्रह को R-Q से सूचित किया जाता है | जैसे – √2 , √3 , √5 , 1/√2 ………….

या , वे संख्याएँ जिसका दशमलव प्रसार अशांत अन्नावर्ती ( Non-terminating non-repeating ) होता है , अपरिमेय संख्याएँ कहलाती है |

परिमेय संख्या का दशमलव प्रसार ( Decimal representation of rational number ) – यदि किसी परिमेय संख्या p/q में जहाँ , m और n पूर्ण संख्या है | तो परिमेय संख्या का दशमलव प्रसार शांत होगा अन्यथा अशांत |

  • दो परिमेय संख्याओ के बीच अनगिनत वास्तविक , परिमेय या अपरिमेय संख्याएँ होती है |
  • दो अपरिमेय संख्याओ के बीच अनगिनत वास्तविक , परिमेय या अपरिमेय संख्याएँ होती है |
  • दो वास्तविक संख्याओ के बीच अनगिनत वास्तविक , परिमेय या अपरिमेय संख्याएँ होती है |
  • प्रत्येक वास्तविक संख्या को संख्या रेखा पर प्रदर्शित किया जा सकता है |

वर्गमूल से सम्बंधित सर्वसमिकाए (Identities related to square roots )

परिमेय संख्याओ के जोड़ और गुणा में बीजीय नियम ( Algebraic laws in addition and multiplication of rational numbers )

1. संवरक नियम ( Closure law ) – दो परिमेय संख्याओ का योग या गुणा भी परिमेय होता है |

यदि a तथा b दो परिमेय संख्याएँ हो तो a + b या ab भी परिमेय होगा |

2. क्रमविनिमय नियम ( Commutative law ) – यदि a और b दो परिमेय संख्याएँ हो तो

(a) a + b = b + a ( योग का क्रमविनिमय नियम )

(b) a×b = b×a ( गुणा का क्रमविनिमय नियम )

3. साहचर्य नियम ( Associative law ) – यदि a ,b और c तीन परिमेय संख्याएँ हो तो

(a) ( a +b ) + c = a + ( b + c ) ( योग का साहचर्य नियम )

(b) ( a× b ) × c = a × ( b × c ) ( गुणा का साहचर्य नियम )

4. तत्समक अवयव का अस्तित्व ( Existence of Identity elements ) – दो परिमेय संख्याएँ 0 तथा 1 इस प्रकार है की

(a) a+0 =0+a = a , यहाँ 0 को योग का तत्समक अवयव कहा जाता है |

(b) a × 1 = 1 × a= a , यहाँ 1 को गुणा का तत्समक अवयव कहा जाता है |

5. प्रतिलोम अवयव का अस्तित्व ( Existence of inverse elements ) – यदि a एक परिमेय संख्या है तो

(a) a + (-a) = (-a) +a = 0 , यहाँ a का योज्य प्रतिलोम -a है |

(b) a ×1/a = 1/a ×a = 1 , यहाँ a का गुणात्मक प्रतिलोम 1/a होता है |

6. काट नियम ( Cancellation law ) – यदि a ,b और c तीन परिमेय संख्याएँ है और

(a) a + b = a +c हो , तो b= c होगा |

(b) यदि a ≠0 और ab = ac हो , तो b = c होगा |

7. वितरण नियम ( Distributive law ) – यदि a ,b और c तीन परिमेय संख्याएँ हो तो

(b) (a +b )c = ac + bc

परिमेय संख्याओ के लिए घातांक के नियम ( Law of exponents for rational numbers ) Read More Chapters

ADRs का वास्तविक

ukraine

संयुक्त राज्य अमेरिका के संयुक्त चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ के अध्यक्ष जनरल मार्क मिले का मानना है कि मॉस्को को दक्षिणी यूक्रेन के खेरसॉन शहर में तैनात लगभग 30,000 रूसी सैनिकों की वापसी को पूरा करने में कई सप्ताह लगेंगे। लेकिन रूस ने घोषणा की है कि सैनिकों और 5,000 से अधिक भारी उपकरण की ये वापसी दो दिनों में सफलतापूर्वक पूरी हो गई थी।

ज़ाहिर है, वापसी के आदेश को पूरा करने में बहुत पहले योजना बनाई गई थी। रूसी सैन्य कमान ने इस सप्ताह की शुरुआत में वास्तविक घोषणा से कुछ सप्ताह पहले इस वापसी पर काम करना शुरू कर दिया था।

केवल आठ दिन पहले यूक्रेन ऑपरेशन के लिए पहले थिएटर कमांडर के रूप में जनरल सर्गेई सुरोविकिन की नियुक्ति के तुरंत बाद उनके 18 अक्टूबर का असाधारण साक्षात्कार संभवतः खेरसॉन क्षेत्र में सैन्य मौजूदगी की गंभीरता के बारे में जनता की राय को संवेदनशील बनाने के लिए तैयार किया गया था।

साक्षात्कार के निम्नलिखित अंश यहां प्रासंगिक हैं:

"एक मुश्किल स्थिति पैदा हो गई है। दुश्मन जानबूझकर खेरसॉन में बुनियादी ढांचे और आवासीय भवनों पर बमबारी करता है। एंटोनोव्स्की ब्रिज और काखोव्स्काया पनबिजली स्टेशन के बांध को एचआईएमएआरएस मिसाइलों से क्षतिग्रस्त कर दिया गया, वहां यातायात रोक दिया गया।

“परिणामस्वरूप, शहर में भोजन की आपूर्ति मुश्किल है, पानी और बिजली की आपूर्ति में कुछ समस्याएं हैं। यह सब नागरिकों के जीवन को बहुत जटिल बनाता है, लेकिन उनके जीवन के लिए सीधा ख़तरा भी है।

“यूक्रेनी सशस्त्र बलों का नाटो नेतृत्व लंबे समय से कीव शासन से खेरसॉन के ख़िलाफ़ आक्रामक कार्रवाई की मांग कर रहा है, भले ही हताहतों की संख्या चाहे सशस्त्र बलों की और नागरिक आबादी की हो।

"हमारे पास इस संभावना पर डेटा है कि कीव में शासन खेरसॉन शहर के क्षेत्र में युद्ध के निषिद्ध तरीक़ों का उपयोग करेगा, कखोव्स्काया पनबिजली बांध पर बड़े पैमाने पर कीव ऑपरेशन में मिसाइल हमला करेगा। इस शहर पर बिना किसी अंतर के बड़े पैमाने पर मिसाइल हमले करेगा।

"इन कार्रवाइयों से एक प्रमुख औद्योगिक केंद्र के बुनियादी ढांचे के विनाश और नागरिक हताहत हो सकते हैं।

“इन परिस्थितियों में, हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता नागरिकों के जीवन और स्वास्थ्य की रक्षा करना है। इसलिए, रूसी सेना सबसे पहले रूसी सरकार द्वारा तैयार किए जा रहे पहले से घोषित पुनर्वास कार्यक्रम के अनुसार लोगों के सुरक्षित निकासी को सुनिश्चित करेगी।

“खेरसॉन शहर के बारे में हमारी आगे की योजनाएं और कार्य वर्तमान सैन्य-सामरिक स्थिति पर निर्भर करेंगे। मैं फिर दोहराता हूं कि आज यह पहले से ही बहुत कठिन है।

“किसी भी मामले में, जैसा कि मैंने कहा, हम जितना संभव होगा नागरिकों और अपनी सेना के जीवन की रक्षा की आवश्यकता से शुरूआत करेंगे।

"हम कठिन निर्णयों को छोड़े बिना सचेत रूप से और समयबद्ध तरीक़े से कार्य करेंगे।"

तीन बातें कही जा सकती हैं। सबसे पहले, खेरसॉन से पीछे हटने का फ़ैसला ऑपरेशन कारणों से किया गया था। इसका तर्क यूक्रेन में तैनाती बढ़ाने के लिए बड़ी संख्या में प्रशिक्षित सैन्य कर्मियों (स्वयंसेवकों सहित कुल 400,000 सैनिकों के क़रीब) को शामिल करना प्रगति कर रहे कार्य को बाधित करने से यूक्रेनी बलों और विदेशी सैनिकों के किसी भी प्रयास को रोकना है।

क्रेमलिन ने खेरसॉन शहर को ख़ाली करने के कड़वे फ़ैसले के लिए 'सॉफ्ट लैंडिंग' करने के लिए अधिक सावधानी बरती, जो कैथरीन द ग्रेट की ऐतिहासिक विरासत के हिस्से के रूप में रूसी राष्ट्रीय मानस में दर्ज है। दिलचस्प बात यह है कि खेरसॉन शहर में इंपीरियल रूस के ऐतिहासिक अवशेषों को सावधानी से बचाया गया है और सुरक्षित भंडारण के लिए ले जाया गया है।

रूस की जनता ने बड़े पैमाने पर सैन्य कमान के फ़ैसले को स्वीकार किया है, जिसमें चेचन नेता रमजान कादिरोव और रूसी सैन्य ठेकेदारों के वैगनर समूह जैसे 'कट्टरपंथी' भी शामिल हैं। सितंबर में खार्कोव में वापसी के मामले में ऐसा नहीं था।

सबसे महत्वपूर्ण, इसकी सुरक्षा, संचार, पानी, आदि के संदर्भ में क्रीमिया के लिए किसी भी ख़तरे को रोकने का इरादा है। पीछे हटने वाली रूसी सेना ने खेरसॉन शहर को नीपर के पूर्वी तट से जोड़ने वाले एंटोनिवका पुल के दो बड़े हिस्सों को नष्ट कर दिया है। रूसी ADRs का वास्तविक नियंत्रण के अधीन ओब्लास्ट के 60% क्षेत्र के साथ खेरसॉन क्षेत्र में नीपर डी फैक्टो 'बफर ज़ोन' बन जाता है।
आगे बढ़ते हुए सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण यह है कि यह एक सामरिक वापसी है। क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने ज़ोर देकर कहा है कि खेरसॉन रूस का हिस्सा है। इसका मतलब खेरसॉन शहर को पुनः प्राप्त करने की बाध्यता से है क्योंकि विशेष सैन्य अभियान जारी हैं।

दूसरा, रूसी सैन्य कमान निकट समय में ओडेसा की ओर किसी भी ऑपरेशन पर विचार नहीं कर रहा है। प्राथमिकता डोनबास क्षेत्र (जो विशेष ऑपरेशन का प्रारंभिक उद्देश्य था) के साथ-साथ ज़ापोरोज़े क्षेत्र (जो कि क्रीमिया को रूसी भीतरी इलाक़ों से जोड़ने वाले ज़मीनी पुल की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण है) पर पूर्ण नियंत्रण स्थापित करने के लिए ऑपरेशन को पूरा करना होगा। डोनेट्स्क में भीषण लड़ाई जारी है।

तीसरा, निश्चित रूप से, बाइडेन प्रशासन के भीतर बातचीत के प्रति सोच में बदलाव के शुरुआती संकेत हैं। वे कितने प्रामाणिक हैं, यह अस्पष्ट है। (नवंबर 10 का मेरा ब्लॉग देखें न एंड इन व्यू फॉर यूक्रेन वार और 11 नवंबर का बाइडेन नॉड्स टू कम्प्रोमाइज इन यूक्रेन।)

सीएनएन और न्यूयॉर्क टाइम्स के ADRs का वास्तविक अनुसार, बाइडेन प्रशासन एक विभाजित गृह है। संकेत बताते हैं कि पेंटागन बातचीत पर ज़ोर दे रहा है। सीएनएन के अनुसार, ज्वाइंट चीफ्स ऑफ़ स्टाफ़ के अध्यक्ष जनरल मिले का मानना है कि कूटनीतिक समाधान के लिए समय आ गया है, क्योंकि सेक्रेटरी ऑफ़ स्टेट एंटनी ब्लिंकन और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन दोनों का नियोकंजर्वेटिव विचार है मगर संदेहपूर्ण हैं।

रूसी बड़े पैमाने पर अपने विचार अपने तक ही रखते हैं लेकिन कुछ संकेत भी सामने आ रहे हैं। वाशिंगटन में रूसी राजदूत अनातोली एंटोनोव ने शुक्रवार को प्रकाशित इज़वेस्टिया के साथ एक साक्षात्कार में कहा, "मुझे केवल मीडिया लीक को देखते हुए यह मान लेना सरल लगता है कि रूसी-अमेरिका संबंधों को एक नए रास्ते पर लाने की दिशा में भी कोई परिवर्तन चल रहा है। हमारा रिश्ता एक गहरे संकट का सामना कर रहा है और बदतर स्थिति को बेहतर करने के लिए अभी तक कोई रास्ता नहीं दिख रहा है।”

उप विदेश मंत्री सर्गेई रयाबकोव ने शुक्रवार को कहा कि बाली में जी20 से इतर रूस और अमेरिका के बीच विदेश मंत्री स्तर पर किसी तरह के बैठक की योजना नहीं है। पेसकोव ने शुक्रवार को कहा कि "यूक्रेन में संघर्ष अपने (विशेष सैन्य अभियान के) लक्ष्यों को प्राप्त करने के बाद या शांतिपूर्ण वार्ता के माध्यम से समान लक्ष्यों को प्राप्त करने के माध्यम से जो भी संभव हो समाप्त किया जा सकता है। कीव वार्ता नहीं चाहता है। विशेष सैन्य अभियान जारी है।"

रूस की नज़र में, बाइडेन प्रशासन कीव पर कितना दबाव बनाने को तैयार है, यह विवादास्पद मुद्दा है। रयाबकोव ने कल अपनी टिप्पणी में इस महत्वपूर्ण पहलू को उजागर किया कि "मैं दोहरा सकता हूं कि हम बिना किसी पूर्व शर्त के बातचीत के लिए तैयार हैं। और हम कुछ समय के लिए तैयार हैं। अपने पश्चिमी संरक्षकों के निर्देश पर, कीव ने संवाद को तोड़ दिया जो सामान्य रूप से प्रगति कर रहा था और एक ख़ास दस्तावेज़ पर काम हो रहा था। अब ये गुज़रे ज़माने की बातें हैं। और आगे क्या होता है अब हम पर निर्भर नहीं है।

"मैं निश्चित रूप से यहां अपनी राय साझा कर सकता हूं कि अगर कीव को किसी निश्चित राजधानियों से आदेश दिया जाता है तो इस तरह की बातचीत के लिए शायद बेहतर मौक़ा होगा। लेकिन फिर, हमारे यहां कोई बाधा नहीं है और बातचीत के लिए कोई पूर्व शर्त नहीं होनी चाहिए।"

बड़ा सवाल यह है कि नवंबर-दिसंबर में शुरू होने वाला रूसी आक्रमण आगे बढ़ेगा या नहीं। जैसा कि सीएनएन के एक विश्लेषण ने निष्कर्ष में पाया कि, "खेरसॉन में सफलता थके हुए यूक्रेनी इकाइयों को कुछ राहत दे सकती है. लेकिन रूस के पास युद्ध में भेजने के लिए बहुत सारे हथियार और हज़ारों नए सैनिक हैं और यूक्रेनी बुनियादी ढांचे के ख़िलाफ़ उसके अभियान ने कई क्षेत्रों में बिजली और पानी की आपूर्ति को बाधित कर दिया है। यूक्रेन धीरे-धीरे पश्चिमी मददगारों से उन्नत हवाई सुरक्षा प्राप्त कर रहा है लेकिन बचाने के लिए बड़ा क्षेत्र बाक़ी है।"

मूल रूप से अंग्रेज़ी में प्रकाशित लेख को पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करेंः

हिंदू नाम से प्लेन में हुए सवार, सोने के साथ पकड़े गए: जाँच में निकले सारे मुस्लिम, टेरर फंडिंग की आशंका

कस्टम विभाग के प्रधान आयुक्त पीके कटियार का भी मानना है कि मामला बेहद संवेदनशील है। विभाग ने सोने के साथ पकड़े गए तीनों संदिग्धों के बारे में पूरी जानकारी पुलिस के साथ साझा की है, ताकि गहराई से जाँच हो सके।

Patna arrested smugglers

अफसर और रिजवान ने रखा हिंदू नाम,आरिफ ने बदला पता (फोटो साभार दैनिक भास्कर)

पिछले दिनों पटना एयरपोर्ट से सोने की तस्करी (Gold Smuggling on Patna Airport) का मामला सामने आया था। लगभग डेढ़ किलो सोने के साथ तीन तस्करों को पटना एयरपोर्ट पर गिरफ़्तार किया गया था। इस मामले में अब नया मोड़ आ गया है जो देश की सुरक्षा से जुड़ा है।

दरअसल सोने की तस्करी का यह मामला अब टेरर फंडिंग (Terror Funding) से जुड़ता नज़र आ रहा है। तस्करी के आरोप में जिन लोगों को गिरफ़्तार किया गया था, उनकी वास्तविक पहचान अब सामने आई है। कस्टम विभाग ने इस मामले में हितेश जैन, अरुण और मोहम्मद आरिफ को गिरफ़्तार किया था।

चौंकाने वाली बात यह है कि पूछताछ के दौरान हितेश जैन की सही पहचान मोहम्मद अफसर के रूप में आया है। वहीं, दूसरे आरोपित अरुण की सही पहचान मोहम्मद रिजवान के तौर पर हुई है, जबकि तीसरे आरोपित मोहम्मद आरिफ का नाम तो सही है, लेकिन उसका वास्तविक पता सामने आया है।

क्या है पूरा मामला ?

अब आपको पूरा मामला समझाते हैं। 10 नवंबर को अहमदाबाद से इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6E 921 से तीन लोग पटना पहुँचते हैं। खुफिया जानकारी के आधार पर कस्टम विभाग की टीम फ्लाइट से बाहर आ रहे लोगों में से इन्हें अलग करती है और जाँच शुरु कर देती है।

तलाशी के दौरान तीनों के पास से दुबई के होलोग्राम वाला 1 किलोग्राम का एक और बाकी चार अन्य बिस्कुट मिले। सोने की कीमत लगभग 77 लाख रुपए आँकी गई। कस्टम विभाग ने सोना को जब्त करते हुए तीनों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए लोगों के नाम हितेश जैन, अरुण और मोहम्मद आरिफ के रुप में सामने आए।

इसके बाद के इंवेस्टिगेशन में जो जानकारी सामने आई वह बेहद चौंकाने वाली है। तीनों तस्कर फर्जी वोटर कार्ड पर यात्रा कर रहे थे और अपनी वास्तविक पहचान छिपा रखी थी। दैनिक भास्कर के रिपोर्ट के मुताबिक, तीन तस्करों में 2 दिल्ली में और तीसरा अहमदाबाद में रह रहा था।

हितेश जैन नाम के आरोपित का असली नाम मोहम्मद अफसर सामने आया और उसके पिता का असली नाम अताउल्लाह है। अरुण नाम का शख़्स ‘रिजवान’ निकला। अरुण ने पहले अपने पिता का नाम शिव कुमार और पता खेड़ा कॉलोनी, स्वरूप नगर, दिल्ली बताया था। सख्ती से पूछताछ के दौरान उसने अपना नाम रिजवान और पिता का नाम खुर्शीद बताया। वह दिल्ली के सीलमपुर के घड़ी मंडी का रहने वाला है।

तीसरे ने अपना नाम आरिफ तो सही बताया था, लेकिन अपने पिता के नाम के साथ पता बदल दिया था। मोहम्मद आरिफ ने पहले अपना पता नैथला हसनपुर जूनियर हाई स्कूल, बुलंदशहर बताया था। बरामद किए गए फर्ज़ी वोटर आईडी कार्ड पर उसके पिता का नाम सुबराती लिखा है। जाँच में पता चला कि आरिफ बापू नगर अहमदाबाद का रहने वाला है।

चुनाव आयोग की साइट से छेड़छाड़

यदि आप इतना ही सोच रहे हैं कि मामला नाम बदलकर तस्करी करने का है तो ठहरिए अभी और भी चौंकाने वाली बातें सामने आने वाली हैं। अब तक की जाँच में पता चला है कि तीनों शातिर जिस वोटर आईकार्ड का इस्तेमाल कर रहे थे, वह चुनाव आयोग (EC) की साइट से छेड़छाड़ कर बनाया गया था।

तस्करों का सरगना कौन?

तस्करों ने अब तक जो जानकारी दी है, उसमें यह साफ नहीं हो पाया है कि सोने का बिस्कुट आखिर है किसका और इस गिरोह का सरगना कौन है? उन्होंने जानकारी दी है कि ‘आका ने कहा था कि जिस फ्लाइट में वे पटना जाएँगे, उसमें सीट के नीचे सोने के बिस्कुट रखे होंगे’। यह आका कौन है, इसका पता लगाया जा रहा है।

पूछताछ के दौरान तीनों की भाषा और बोली से अधिकारियों को शक हुआ। ये कुछ वैसे शब्दों का इस्तेमाल कर रहे थे, जो पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बोली जाती हैं। कड़ी पूछताछ में तीनों तस्कर टूट गए और अपनी वास्तविक पहचान जाहिर कर दी।

अब भी कई ऐसी बातें हैं, जिनका पता लगाया जाना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए जरूरी है। यह जानना जरूरी है कि अफसर और रिजवान ने अपनी पहचान छिपाने के लिए हिंदू नामों को ही क्यों चुना? सोने का बिस्कुट हवाई जहाज में सीट के नीचे तक कैसे पहुँचा? दुबई का सोना अहमदाबाद तक कैसे पहुँचा? इसे पटना से कहाँ ले जाया जा रहा था? क्या सोने का टेरर फंडिंग से लेना-देना है?

कस्टम विभाग के प्रधान आयुक्त पीके कटियार का भी मानना है कि मामला बेहद संवेदनशील है। विभाग ने सोने के साथ पकड़े गए तीनों संदिग्धों के बारे में पूरी जानकारी पुलिस के साथ साझा की है, ताकि गहराई से जाँच हो सके।

क्या आप लिस्बन से SEF की यात्रा कर रहे हैं? आपको क्या जानना है

जैसे-जैसे साल का अंत आ रहा है, SEF नए रेजीडेंसी कार्ड के साथ ब्रिट्स को जारी करने के लिए आवश्यक सभी चीज़ों को एक साथ लाने का प्रयास कर रहा है - जिसका अर्थ है कि इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए बड़ी संख्या में लोगों ने लिस्बन की यात्रा की है।

द्वारा Daisy Sampson, in Portugal, ओपिनियन · 18 Month11 2022, 20:04 · 0 टिप्पणियाँ

क्या आप लिस्बन से SEF की यात्रा कर रहे हैं? आपको क्या जानना है

क्या आप SEF जा रहे हैं लिस्बन में?

इन ब्रिट्स में से एक के रूप में, मैंने लिस्बन से जाने का फैसला किया फॉर्म भरने और SEF को अपना बायोमेट्रिक डेटा सौंपने के लिए एल्गरवे। मैं कर सकता था अल्गार्वे में अपॉइंटमेंट लेने के मौके के साथ ईमेल किए जाने का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन इसके बजाय राजधानी की यात्रा का काफी शौक था और इसे पाने के लिए उत्सुक भी था बॉल रोलिंग एक ऐसी प्रक्रिया पर है जो पिछले लगभग दो वर्षों से रुकी हुई है।

मूल रूप से, यूरोपीय संघ से ब्रिटेन की वापसी के साथ, मेरा अच्छा पुराना निवास अब वैध नहीं था, क्योंकि यह कागज का एक टुकड़ा है जो केवल नागरिक हैं सदस्य राज्यों से हो सकता है। SEF ने किया हम सभी को ऑनलाइन जाने और एक QR कोड के साथ कागज के एक टुकड़े को प्रिंट करने की अनुमति दें नए रेजीडेंसी कार्ड के लिए एक अस्थायी विकल्प था, और जबकि यह कानूनी था दस्तावेज़, यह पता चला है कि ब्रिट्स के अलावा किसी के पास कोई सुराग नहीं था यह क्या था या यह कानूनी था।

मैं गिनती नहीं कर सकता कि कितने लोगों ने मुझे समस्याओं के बारे में बताया है वे पिछले लगभग दो वर्षों से पुर्तगाल में रोजमर्रा की जिंदगी जी रहे हैं उचित निवास कार्ड के बिना - ऋण प्राप्त करने में सक्षम नहीं होने से, वोट करने के लिए पंजीकरण करने में कठिनाई, और ड्राइविंग टेस्ट लेने में समस्याएं हमारे दयनीय छोटे QR कोड को स्वीकार करने में कोई भी खुश नहीं था। तो आखिरकार ईमेल कब से आया SEF ने मुझे अपॉइंटमेंट बुक करने दिया, लिस्बन की यात्रा एक छोटी सी कीमत चुकानी पड़ी अंत में इस सब से आगे बढ़ने में सक्षम होने के लिए।

मैं आमतौर पर लिस्बन के लिए ड्राइव करता हूं लेकिन पेट्रोल और टोल के साथ यह है बिल्कुल किफायती नहीं है, इसलिए हम लागो से एक बस में सवार हुए, जिसकी कीमत 16 रिटर्न थी, और हमने ऑनलाइन बुकिंग की। हमारी बस लगभग थी पूरा और बोर्ड पर मौजूद लगभग एक तिहाई लोग SEF की ओर भी जा रहे थे। इस बस में लागोस, पोर्टिमा, लागो, सिल्वेस और मेसिन्स में अल्गार्वे में रुकता है और फिर केवल अल्माडा में रुकते हुए सीधे लिस्बन तक गया और फिर चिड़ियाघर के बगल में सेटे रियोस स्टेशन पर गया।

चूंकि मौसम अच्छा था, इसलिए हमने आधे घंटे का समय तय किया एसईएफ कार्यालय तक पैदल चलें, लेकिन हम समान रूप से बस या मेट्रो ले सकते थे, जैसे पार्के स्टेशन कार्यालय से सड़क के उस पार है। बस स्टेशन से SEF तक का एक Uber ही खर्च करता है वापस जाने के रास्ते पर एक चार का उपयोग करें।

चलना बहुत सरल था और एक बार जब आप मुख्य ड्रैग पर होते हैं आपके पास खाने के लिए रुकने के रास्ते में कुछ अच्छे स्थान हैं या पेय। इस सड़क पर एक विशाल एल कॉर्टे इंगला © का डिपार्टमेंटल स्टोर भी है, जो उन लोगों के लिए ADRs का वास्तविक है, जो पहले एक दुकान की कल्पना करते हैं या के बाद।

हम अपनी नियुक्ति के लिए 20 मिनट पहले पहुंचे और थे दरवाजे पर सुरक्षा गार्ड ने उसे SEF का ईमेल दिखाने के लिए कहा हमारे फोन पर अपॉइंटमेंट के बारे में, फिर उन्होंने हमें रिसेप्शन क्षेत्र में ले जाया और हमें कतार के सामने ले गया जहाँ आप अपने साथ अपना टिकट लेते हैं उस पर नंबर। यह थोड़ा अजीब लगा बाकी सभी से आगे कूदने के लिए, लेकिन यह भी सभी के लिए होता हुआ दिखाई दिया अन्यथा जिनके पास पहले से बुक अपॉइंटमेंट था।

डेस्क पर, महान अंग्रेजी बोलने वाली महिला ने हमें एक फॉर्म दिया भरने के लिए और एक टिकट नंबर। (A) शीर्ष टिप यहाँ यह सुनिश्चित करने के लिए है कि आप अपने साथ एक पेन लाएँ क्योंकि इसका कोई प्रस्ताव नहीं था एक दिया जा रहा है!)। फॉर्म ने हमसे पूछा पूरा माता और पिता का पूरा नाम, NIF, NISS, स्वास्थ्य संख्या, पुर्तगाली फ़ोन नंबर, और पता इसलिए सुनिश्चित करें कि आपके पास ये सभी हैं।

फिर बुलाए जाने से पहले हमने लगभग आधे घंटे इंतजार किया एक विशिष्ट डेस्क जहाँ मेरी मुलाकात एक प्यारी महिला से हुई, जो परफेक्ट इंग्लिश भी बोलती थी। यहां आप अपना टिकट, भरा हुआ फॉर्म और अपना पासपोर्ट देते हैं, जो आपको केवल दस्तावेज़ीकरण का वास्तविक टुकड़ा लेना है आपके साथ।

मुझे अपने जन्म स्थान और मेरी शादी की पुष्टि करने के लिए कहा गया स्थिति के रूप में उसने भरे हुए फॉर्म में सभी विवरण डाले कंप्यूटर।

एक बार ऐसा करने के बाद, मुझे एक मशीन के सामने खड़े होने के लिए कहा गया। जिसने मेरे चेहरे की एक तस्वीर ली, फिर मेरी उंगलियों के निशान और मेरी उंगलियों के निशान प्रदान करने के लिए कहा डिजिटल रूप से हस्ताक्षर।

आखिरकार मुझे बताया गया कि मुझे SEF पर वापस लॉग ऑन करना है भुगतान जानकारी प्राप्त करने में सक्षम होने के लिए 48 घंटे के बाद पोर्टल और एक बार भुगतान हो जाने के बाद कार्ड को मेरे द्वारा दिए गए पते पर पोस्ट किया जाएगा।

संपूर्ण डेटा संग्रह प्रक्रिया में ही लगभग पाँच का समय लगा। मिनट।

जब मैं इस प्रक्रिया से सहज था, तब मैंने देखा कि a कई लोग ऑनलाइन सिस्टम में लॉग इन करने के बारे में सवाल पूछ रहे थे और रेजीडेंसी के बारे में सामान्य मुद्दे भी, इन सभी सवालों के जवाब जल्दी दिए गए और सुरक्षा गार्ड द्वारा पेशेवर रूप से दरवाजे पर और फिर डेटा प्रदान करना।

तो हमारे पास यह एक निवासी होने के करीब एक कदम है पुर्तगाल में (फिर से!)

जिन लोगों की नियुक्तियां लिस्बन एसईएफ कार्यालय के लिए निर्धारित हैं, उनके लिए पूर्ण संपर्क विवरण नीचे दिए गए हैं (मानचित्र):

एवेनिडा एंटा³नियो ऑगस्टो डी अगुइर, 20 1069-119 लिस्बोआ एक टेलीफ़ोन: 213 585 500 फ़ैक्स: 213 144 053â होरा ¡रियो डे एटेंडिमेंटो एओ पाºblico: 8h30-19h00 (dias ãºteis) एक ई-मेल: [email protected] एक / [email protected]

रेटिंग: 4.74
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 427
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *