शेयर मार्केट पर पुस्तकें

क्रिप्टो को माना जाएगा वस्तु

क्रिप्टो को माना जाएगा वस्तु
image credit: Getty Images

Cryptocurrency क्रीपटों करन्सी क्या है? इसका काम क्या है और ये कैसे काम करती है ?

Cryptocurrency क्रीपटों करन्सी ? इसका काम क्या है और ये कैसे काम करती है ?

दुनिया में एक वक्त ऐस भी था, जब किसी भी प्रकार की मुद्रा नहीं थी। मात्र वस्तुओं के बदले में वस्तुओं का लेन देन होता था।
इन सब के बाद सिक्कों का लेन देन शुरू हुआ उसके बाद नोटों में लेन देन शुरू हुआ। अब लेन देन का तरीका पूरी तरह से बदल गया है।
आज कल क्रिप्टो को माना जाएगा वस्तु नोट और सिक्के ही हमारा मुख्य मुद्रा है। इसके अलावा भी हमारे पास एक करेंसी है, जो के अभी पूरी तरह से डिजिटल Digital है। जिसे हम आमतोर से क्रीपटोंकरन्सी कहते है। लेकिन क्या आप जानते है के ये क्रीपटों करन्सी आखिर मे है क्या?
आखिर ये काम कैसे करती है? साथ ही इसके क्या फाइडे है और क्या नुकसान है?
आईए , आज हम आपको विस्तार से बताते है।

आम तौर पर उपयोग की जाने वाली मुद्रा को हम छू कर लेनदेन कर सकते हैं। परंतु Cryptocurrency को छूना असंभव है।
अब वह दिन दूर नहीं कि हम आम तौर पर भी Digital currency को उपयोग में ला सकेंगे। Digitalization
के बढ़ते जमाने में मुद्रा का भी Digital होना स्वभाविक है। क्रिप्टो करेंसी को दूसरी भाषा में Digital Money भी कहा जाता है।

What is Crypto Currency in Hindi

Crypto Currency Kya Hai:- cryptocurrency को Digital Currency का नाम भी दिया गया है।
यह मूलधन एक तरह से Digital Asset होता है। इसका उपयोग ऑनलाइन माध्यम से Goods एवं Services
खरीदने में उपयोग किया जाता है। भारत के अलावा अन्य देशों में इस करेंसी को अधिक महत्व दिया जाने लगा है। trading sector में क्रिप्टोकरेंसी को अत्यधिक बढ़ावा मिल रहा है। डिजिटल करेंसी एक Peer to Peer Electronic System है।
जिसका उपयोग इंटरनेट के माध्यम से सरलता से किया जाता है। वर्तमान में Goods एवं
Services खरीदने में डिजिटल करेंसी का उपयोग regularcurrencies के बजाय बढ़ने लगा है।

आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली करेंसी का उपयोग बैंकों के माध्यम से एवं बैंक को बिना बताए उपयोग में लाना असंभव है।
परंतु Digital Currency को बिना बैंक को बताए भी लेनदेन में प्रयोग की जा सकती है।
क्रिप्टोकरंसी की शुरुआत बिटकॉइन से हुई थी और किसका उपयोग Blockchain पद्धति पर किया जाता है।

दुनिया भर में 1,000 से अधिक क्रिप्टोकरंसी मौजूद है। इन सब का मूल Bitcoin को ही माना जाता है।
क्रिप्टोकरेंसी को बनाने के लिए Cryptography पद्धति का इस्तेमाल किया जाता है।
इससे Move कराने में Blockchain Network System का प्रयोग किया जाता है।

image credit: Getty Images

बिटकॉइन क्या है? What is bitcoin?

बिट कॉइन क्या है यह जानने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का मूल रूप बिटकॉइन ही है इसे समझना बहुत जरूरी है।
दरसल “Crypto” अंग्रेजी भाषा का शब्द है और इसका हिंदी अनुवाद होता है “गुप्त” Cryptography की पद्धति पर BTC
को प्रयोग में लाया जाता है। Cryptography का अर्थ होता है कोडिंग भाषा को सुलझा ने की कला।
Bitcoin को Digital Volet में ही Save रखा जा सकता है। Internet के माध्यम
से ही इसका transaction संभव है। बिटकॉइन 0 से 1 सीरीज में ही आता है।

दरअसल बिटकॉइन को 2008 में सातोशी नाकामोतो ने बनाया था। लेकिन 2009 में इसे ओपन स्रोत सॉफ्टवेयर के रूप में लॉन्च किया गया था।
बिटकॉइन की सबसे छोटी यूनिट सतोशी होती है और एक बिटकॉइन में 10 करोड़ सतोशी होती है।

क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार types of cryptocurrency

जैसे-जैसे समय क्रिप्टोकरेंसी को अपनाता जा रहा है। वैसे ही क्रिप्टोकरेंसी की मात्रा भी बढ़ने लगी है।
देखा जाए तो यह बहुत मात्रा में लॉन्च हो चुकी है। जिनका उपयोग Bitcoin के अलावा भी प्रयोग में लाए जाने लगा है।
देखा जाए तो क्रिप्टो करेंसी का एक ही प्रकार है। अलग-अलग को Market में लॉन्च किए जाना इसके प्रकार का वर्गीकरण नहीं कर सकता।
हम आपको कुछ ऐसे Coins के नाम बता रहे हैं जो वर्तमान में crypto trading में अच्छे performer है।

क्रिप्टोकरेंसी में पैसा कैसे लगाए | Invest money in Cryptocurrency
क्रिप्टोकरेंसीज में निवेश करना बहुत आसान है। इसके लिए आपको एक सही प्लेटफॉर्म को चुनने की आवश्यकता है।
सही प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ी Guideline, Terms condition को ध्यान पूर्वक पढ़ लेना चाहिए।
क्योंकि क्रिप्टो करेंसी में Trading करना जोखिम भरा हो सकता है। भारत सहित अन्य देशों में cryptocurrency trending
को को लेकर विभिन्न प्लेटफार्म तैयार किए गए हैं। सही प्लेटफॉर्म का चुनाव करना इससे जुड़ी जानकारी को प्राप्त करना अति आवश्यक है।

क्रिप्टोकरेंसी के लाभ | Benefits of Crypto Currency

देखिए ऐसा है, कि समय समय पर मुद्रा में बदलाव होता आया है। वर्तमान में डिजिटल प्लेटफार्म विकसित हो रहे हैं और
इन डिजिटल प्लेटफॉर्म पर आसानी से किसी करेंसी को Move करवाया जा सकता है। तो वह है क्रिप्टोकरेंसी।
इसलिए समय अनुसार इसके अनेक फायदे आमजन को होने वाले हैं। तथा जो लोग Trading करते हैं।
उन्हें क्रिप्टोकरेंसीज से बहुत लाभ होने वाला है। चलिए हम कुछ फायदों को देखते हैं:-

  1. क्रिप्टोकरेंसी एक सुरक्षित प्रणाली पर टिका होता है। इसलिए Fraud होने की संभावना बहुत कम रहती है।
  2. क्रिप्टोकरेंसी Regular Currency के बजाय आदान प्रदान करने में आसान है।
  3. डिजिटल माध्यम से क्रिप्टोकरेंसी का पेमेंट करना Secure माना जाता है।
  4. Online transaction feeds की बात करें तो क्रिप्टोकरेंसी में यह सीमित है।
  5. क्रिप्टोकरेंसी के लिए बनाया गया Account सुरक्षित रहता है।
  6. Currency Trading में इसे उपयोग करना बहुत आसान है।
  7. बड़े प्लेटफार्म इसको एक्सेस करने का रास्ता खोज रहे हैं।
  8. वर्तमान में Microsoft Telsa जैसी बड़े प्लेटफार्म क्रिप्टोकरेंसी exchanges को सपोर्ट कर रहे हैं।

क्रिप्टो करेंसी के नुकसान | Disadvantages of Crypto Currency

किसी भी मुद्रीकरण को नया प्रारूप में ढलने के लिए विरोध का सामना करना पड़ता है। क्रिप्टो करेंसी को भी लोगों को
अपनाने में समय जरूर लगेगा। क्योंकि इसे छुआ नहीं जा सकता। केवल इसका digital wallets में ही उपयोग किया जा सकता है।
इसलिए अधिकांश देश इसे लागू करने में देरी करना ही उचित समझते हैं। बरहाल आने वाले समय में क्रिप्टोकरेंसी का क्रेज बढ़ने वाला है
और इससे जुड़े कुछ नुकसान भी सामने आए हैं जैसे:-

  1. क्रिप्टोकरेंसी का ट्रांजैक्शन पूर्ण होने के बाद इसे reverse करना बहुत मुश्किल है।
  2. डिजिटल करेंसी को reverse करने का कोई ऑप्शन अभी तक डेवलपर्स खोज नहीं पाए हैं।
  3. जैसा कि आप जान ही चुके हैं, कि यह डिजिटल वॉलेट में Save होता है और यदि आपके पास डिजिटल पासवर्ड या उससे जुड़ी सिक्योरिटी को भूल जाते हैं।या गुम हो जाती है। तो इसे खोज पाना मुश्किल हो जाएगा।
  4. इसलिए आईडी को सुरक्षित रखना एक चैलेंज है।
  5. वॉलेट का आईडी पासवर्ड भूल जाने पर डिजिटल करेंसी को रिकवर करना अभी संभव नहीं है।

FAQ’s Crypto Currency Kya Hai

Q. क्रिप्टोकरेंसी क्या होती है?

Ans. क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल मनी होती है। जिसका उपयोग इंटरनेट के माध्यम से Goods or Services को खरीदने में किया जाता है
और क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेनिंग भी की जाती है।

Q. क्या क्रिप्टो करेंसी सुरक्षित मुद्रा है?

Ans. देखिए, क्रिप्टोकरेंसी एक बदलते जमाने की करेंसी का क्रिप्टो को माना जाएगा वस्तु रूप ले रही है, मुद्रीकरण समय-समय पर होता आया है। हो सकता है,
आने वाले समय में डिजिटलाइजेशन के बढ़ते क्षेत्र को देखते हुए पूर्णतया क्रिप्टोकरेंसी लागू हो सके। वर्तमान में यह सुरक्षित भी है।
तो कुछ आयाम में इसके नुकसान भी देखे गए हैं।

Q. क्रिप्टो करेंसी कितने प्रकार की होती है?

Ans. क्रिप्टोकरेंसी के विभिन्न प्रकार तैयार किए जा रहे हैं। मूल रूप से बिटकॉइन पर ही क्रिप्टोकरेंसी टिकी हुई है और बिटकॉइन के
अतिरिक्त अन्य क्रिप्टो भी लॉन्च हो चुके हैं।

Q. क्रिप्टो करेंसी का उपयोग कैसे किया जाता है?

Ans. डिजिटल करेंसी का उपयोग इंटरनेट के माध्यम से किया जाता है। इसे छूना असंभव है। इसलिए इसे वर्चुअल करेंसी का नाम दिया गया है।
इसका ट्रांजैक्शन ऑनलाइन ही होता है और इसका उपयोग बैंक को बिना बताए भी किया जा सकता है।

People Also Search:- Crypto Currency Kya Hai | Crypto Currency in Hindi | cryptocurrency meaning in hindi

Crypto Coins और Crypto Tokens को आप भी समझते है एक जैसा, तो जानिए दोनों में क्या फर्क है?

Crypto Coins vs Crypto Tokens: अधिकांश लोग क्रिप्टो कॉइन और क्रिप्टो टोकन को एक जैसा ही समझते है, लेकिन दोनों में ही फर्क होता है। सभी कॉइन्स को टोकन माना जाता है, लेकिन सभी टोकन क्रिप्टो इंडस्ट्री में सिक्के नहीं हैं।

पिछले दो वर्षों में cryptocurrency की वृद्धि ने दुनिया के कई निवेशकों को आकर्षित किया है। हालांकि, बहुत से लोग इस इंडस्ट्री से जुड़ी नई शर्तों से अवगत नहीं हैं। कुछ तो यह भी नहीं जानते कि वे टोकन खरीद रहे हैं या सिक्के। एक नया इंडस्ट्री होने के नाते Cryptocurrency डिजिटल एसेट को संदर्भित करता है, इसमें बहुत सारे नए शब्द शामिल हैं। निवेशक अक्सर उनका परस्पर उपयोग करते हैं।

हालांकि भारत में Cryptocurrency निवेशकों में कमी आ गई है, क्योंकि सारकर ने इसे अभी तक अधर के ही लटकाएं रखा और 30 प्रतिशत टैक्स का प्रावधान लागू कर दिया है। हालांकि दुनिया के अधिकांश हिस्सों में क्रिप्टो का चलन है। समझने के लिहाज से भी आपको यह समझना चाहिए कि Crypto Coins और Crypto Tokens में क्या अंतर है।

बहुत से लोग सोचते हैं कि क्रिप्टो कॉइन और टोकन समान हैं। यह ध्यान में रखा जाना चाहिए कि ये दोनों समान नहीं हैं। इंडस्ट्री के विशेषज्ञों के अनुसार, सभी Crypto coins को टोकन माना जाता है लेकिन क्रिप्टो इंडस्ट्री में सभी टोकन मौलिक स्तर पर कॉइन नहीं हैं।

एक Crypto coins आमतौर पर एक ब्लॉकचेन नेटिव होता है और इसका उपयोग मुद्रा और स्टोर मूल्य का व्यापार करने के लिए किया जाता है, जबकि एक टोकन दूसरे कॉइन के ब्लॉकचेन का उपयोग करता है।

उदाहरण के लिए Ethereum एक ब्लॉकचेन है। इसका नेटिव कॉइन Ether है। हालांकि BAT और Loopring जैसे कई टोकन इस ब्लॉकचेन पर काम करते हैं।

कॉइन सीधे एक्सचेंज के माध्यम का प्रेजेंट करते हैं। दूसरी ओर टोकन एक एसेट का प्रतिनिधित्व करते हैं। टोकन को वैल्यू के लिए रखा जा सकता है, या ट्रेड किया जा सकता है और ब्याज अर्जित करने के लिए दांव लगाया जा सकता है।

Crypto Coins के लेन-देन को ब्लॉकचेन द्वारा कंट्रोल किया जाता है, जबकि टोकन ट्रेड के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट पर निर्भर करते हैं।

जब एक टोकन खर्च किया जाता है, तो वह एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाता है। उदाहरण के लिए, NFT एक तरह का अनूठा आइटम है, इसे ओनरशिप द्वारा मैन्युअल कंट्रोल किया जाता है। एक सिक्के को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने की आवश्यकता नहीं होती है। सभी ट्रांजेक्शन ब्लॉकचेन पर दर्ज किए जाते हैं।

एक टोकन दर्शाता है कि एक व्यक्ति के पास क्या है, जबकि एक सिक्का दर्शाता है कि वे क्या करने में सक्षम हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार अगर कोई इन्वेस्टर किसी प्रोडक्ट को खरीदना चाहता है, तो कॉइन सबसे अच्छे हैं और अगर यह एक सर्विस है तो यूटिलिटी टोकन का उपयोग किया जा सकता है।

क्या क्रिप्टोकरेंसी असली पैसा है?

पैसा” को विभिन्न तरीकों से परिभाषित किया जा सकता है. हालाँकि, इस शब्द की अधिकांश परिभाषाएँ इस तथ्य पर आधारित हैं कि यह विनिमय के माध्यम और मूल्य का भंडार होने में सक्षम है और ये की इसका वस्तुओं और सेवाओं की खरीद में उपयोग किया जा सकता है.

हम इसमें यह भी कह सकते हैं कि ये स्थिर होना चाहिए – इसके मूल्य में बहुत ज्यादा उतार-चढ़ाव नहीं होना चाहिए और ये अनुमानित रहना चाहिए. क्रिप्टो शायद इन आवश्यकताओं को पूरा नहीं करता और यह इंगित करना असंभव है की क्रिप्टो पैसे की स्थिति में कब पहुंचेगा, लेकिन यह मान लेना सुरक्षित है कि मौजूदा स्थिति एक दिन बदल सकती है.

अभी, कुछ बातें नीचे स्पष्ट हैं:

  1. क्रिप्टो के बारे में बहुत सारी गलतफहमयां / misunderstandings हैं. ज्यादातर लोग समझते हैं कि क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग केवल इंटरनेट पर खरीदारी करने के लिए किया जाता है. और वे इस क्षेत्र में तेजी से अपनी पहचान बना रही है, खासकर इसलिए कि उनकी लोकप्रियता हर दिन घातीय गति से बढ़ रही है.
  2. क्रिप्टोकरेंसी की मार्केट फलफूल रही है; यह लगातार बढ़ रही है और इसके धीमा होने के कोई संकेत नहीं दिख रहा है.
  3. अधिकांश क्रिप्टोकरेंसियों को लोकप्रिय स्टॉक एक्सचेंजों पर खरीदा और बेचा जा सकता है.
  4. क्रिप्टो धीरे-धीरे fiat करेंसी / पारंपरिक धन के एक बेहतर विकल्प के रूप में उभर रहा है. इसके भविष्य के बारे में अनिश्चितता / सवालों के बावजूद, दुनिया भर के संगठन और कंपनियां अपने दैनिक कार्यों के लिए विनिमय के माध्यम के रूप में इसका उपयोग करती हैँ. यह बात भी उल्लेखनीय है कि कानूनी करेंसी / fiat के विपरीत, क्रिप्टो संपत्ति सरकार द्वारा विनियमित नहीं होती है.
  5. कई जानी-मानी कंपनियां bitcoin और दूसरी क्रिप्टोकरेंसयों में भुगतान स्वीकार करती हैं. इन कंपनयों में Microsoft, Subway, Tesla, Walmart और दूसरी कंपनियां क्रिप्टो को माना जाएगा वस्तु शामिल हैँ.

अधिकांश लोग अभी भी क्रिप्टोकरेंसी को आभासी धन के रूप में देखते हैं जो बहुत अस्थिर है और इसका उपयोग केवल internet पर खरीदारी के लिए किया जा सकता है. लेकिन यह सत्य नहीं है; यह तो crypto की उन विशेषताओं में से एक है जो इसे fiat मुद्राओं से अलग करने में मदद करती है.

मिसाल के तौर पर अमेरिकी डॉलर दुनिया में सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली मुद्रा है. इसे आमतौर पर विनिमय के माध्यम के रूप में स्वीकार किया जाता है और इसे कभी भी USD के बदले खरीदा और बेचा जा सकता है. और इसका एक और फायदा ये भी है की यह स्थिर है. इसका मूल्य में ज्यादा उतार-चढ़ाव नहीं करता — यह एक पूर्वानुमेय / predictable और स्थिर मुद्रा है — और इसके लाभों का उपयोग करने के कई अलग-अलग तरीके हैं:

  1. दुनिया भर में कई लोग और संगठन अपना पैसा USD में रखते हैं.
  2. यह मूल्य धारण करने का एक सामान्य तरीका है. इस बात को आप कई तरह से काम में ला सकते हैं, जैसे:
    USD को बैंक में नकद के रूप में जमा करें,
    किसी और मुद्रा या क्रिप्टोकरेंसी के बदले USD खरीदें या बेचें.

संक्षेप में American Dollar को मूल्य का एक भंडार भी माना जाता है जिसे किसी भी समय किसी दूसरी मुद्रा या क्रिप्टो संपत्ति के बदले खरीदा या बेचा जा सकता है.

जिस तरह फ़िएट मुद्रा को सरकार या केंद्रीय बैंक द्वारा समर्थित किया जाता है, उसी तरह क्रिप्टोकरेंसी किसी के द्वारा समर्थित नहीं होती है। अलबत्ता / However, इसकी अन्य विशेषताएं हैं जो इसे मूल्य देती हैं. वे लोग जो क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करते हैं, वही लोग इसे मूल्य देते हैं. ठीक उसी तरह से USD का मूल्य है क्योंकि लोग इसे वस्तुओं और सेवाओं पर भुगतान के लिए स्वीकार करते हैं.

हाल ही में एक रिपोर्ट में बताया गया है कि सभी बिटकॉइन लेनदेन का 30% से अधिक चीन में होता है, और ये की उनमें से अधिकांश का उपयोग online खरीदारी और बिक्री के लिए किया जाता है.

ज्यादा से ज्यादा online फुटकर विक्रेता / retailer कई कारणों से क्रिप्टोकरेंसी में भुगतान को सक्षम कर रहे हैं. उन में से कुछ कारण ये हैं:

1) फीस / शुल्क का खर्च कम होना चुंकि भुगतान फिएट / पैसे के बजाय क्रिप्टो में किया जाता है.
2) क्रेडिट कार्ड प्रक्रिया / processor की तुलना में अपना पैसा तेजी से प्राप्त करने की क्षमता. भुगतान को तुरंत प्राप्त और सत्यापित किया जा सकता है और वॉलेट में संग्रहीत किया जा सकता है, वे भी किसी एकाधिक सत्यापन की आवश्यकता के बिना, जिसमें संगठनों या पक्ष को कई दिन या सप्ताह लग जाते हों.
3) केवल स्थानीय स्तर पर ही नहीं बल्की दुनिया भर से भुगतान स्वीकार करने की क्षमता.
4) मुद्रा से विनिमय दरों पर लाभ कमाने की संभावना.
5) ग्राहक चाहे किसी भी मुद्रा का उपयोग करते हों, वे तुरंत इसे USD या किसी अन्य मुद्रा में परिवर्तित कर सकते हैं और उससे तुरंत लाभ कमा सकते हैं, बजाय ये की हफ्तों / सप्ताहों तक पहले पैसे के wire transfer का इंतज़ार किया जाये.

क्रिप्टो में ऑनलाइन भुगतान स्वीकार करने के कई फायदे हैं; यह आपको क्रेडिट कार्ड संसाधकों और अन्य तृतीय पक्षों पर अतिरिक्त संसाधन खर्च किए बिना पैसे कमाने की अनुमति देता है. यही कारण है कि हम सुरक्षित रूप से कह सकते हैं कि क्रिप्टोकरेंसी का वास्तव में मूल्य है – उन्हें USD जैसी अन्य मुद्राओं के बदले खरीदा और बेचा जा सकता है, और उनका किसी भी समय ऑनलाइन खरीदारी करने के लिए उपयोग किया जा सकता है.

Fiat के साथ तुलना करने पर क्रिप्टो में भी अनूठी विशेषताएं होती हैं; मिसाल के तौर पर, क्रिप्टो एक विकेंद्रीकृत मुद्रा है, मतलब ये है की यहाँ कोई भी केंद्रीय प्राधिकरण नहीं है जो ये नियंत्रित करे की दुनिया में क्रिप्टो का उपयोग कैसे किया जाए या इसका आदान-प्रदान कैसे किया जाएगा.

यह क्रिप्टो को फिएट पर कई फायदे देता है:

  1. सीमाओं के पार धन भेजने पर कोई शुल्क नहीं है.
  2. उपयोगकर्ताओं अपने खाते में कितनी धनराशि रख सकते हैं, इस पर कोई प्रतिबंध नहीं है.
  3. इसे दुनिया में कोई भी इस्तेमाल कर सकता है.

यह भी उल्लेखनीय है कि क्रिप्टो के फ़िएट मुद्रा पर कई लाभ हैं, जैसे तेज़ लेनदेन के साथ साथ अधिक सुरक्षा. कारकों का यह अनूठा संयोजन क्रिप्टो को आज मार्केट में मौजूद सबसे दिलचस्प निवेशों में से एक बनाता है, जो इसके तेजी से बढ़ते मूल्य में परिलक्षित होता है.

हालांकि क्रिप्टो ने अभी तक दुनिया में इतना ज्यादा तूफान नहीं मचाया है, इसका उपयोग शुरू और यह समझना महत्वपूर्ण है कि यह fiat से किस तरह जुडा और खास है — केवल इसलिए नहीं कि यह त्वरित लेनदेन और अधिक सुरक्षा की अनुमति देता है, बल्कि इसलिए भी कि एक दिन परिदृश्य इसकी ओर जरूर बदलेगा. क्रिप्टो एक दिन fiat की जगह ले सकता है, और जब ऐसा होगा तो आपको इसके साथ अनुकूलन के लिए तैयार रहना चाहिए.

निष्कर्ष

क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल मुद्रा है जिसने पिछले कुछ वर्षों में अपार लोकप्रियता हासिल की है. यह आज मार्किट में उपलब्ध सबसे मूल्यवान निवेशों में से एक है, जिस से हमें यही नही चलता के इसमें मूली है, बल्की ये भी की भविष्य में इसका मूल्य जरूर बढ़ेगा.

लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है कि आपको अपनी सारी बचत क्रिप्टो संपत्ति में निवेश करदेनी चाहिए; दैनिक खरीदारी के लिए आपको कुछ पैसे fiat मुद्रा में रखना चाहिए.

Author

रोहित कुमार onastore.in के लेखक और संस्थापक हैं। इन्हे इंटरनेट पर ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीकों और क्रिप्टोकरेंसी से संबंधित जानकारियों के बारे में लिखना अच्छा लगता है। जब वह अपने कंप्यूटर पर नहीं होते हैं, तो वह बैंक में नौकरी कर रहे होते हैं। वैकल्पिक रूप से [email protected] पर उनके ईमेल पर संपर्क करने की कोशिश करें।

Crypto Coins और Crypto Tokens को आप भी समझते है एक जैसा, तो जानिए दोनों में क्या फर्क है?

Crypto Coins vs Crypto Tokens: अधिकांश लोग क्रिप्टो कॉइन और क्रिप्टो टोकन को एक जैसा ही समझते है, लेकिन दोनों में ही फर्क होता है। सभी कॉइन्स को टोकन माना जाता है, लेकिन सभी टोकन क्रिप्टो इंडस्ट्री में सिक्के नहीं हैं।

पिछले दो वर्षों में cryptocurrency की वृद्धि ने दुनिया के कई निवेशकों को आकर्षित किया है। हालांकि, बहुत से लोग इस इंडस्ट्री से जुड़ी नई शर्तों से अवगत नहीं हैं। कुछ तो यह भी नहीं जानते कि वे टोकन खरीद रहे हैं या सिक्के। एक नया इंडस्ट्री होने के नाते Cryptocurrency डिजिटल एसेट को संदर्भित करता है, इसमें बहुत सारे नए शब्द शामिल हैं। निवेशक अक्सर उनका परस्पर उपयोग करते हैं।

हालांकि भारत में Cryptocurrency निवेशकों में कमी आ गई है, क्योंकि सारकर ने इसे अभी तक अधर के ही लटकाएं रखा और 30 प्रतिशत टैक्स का प्रावधान लागू कर दिया है। हालांकि दुनिया के अधिकांश हिस्सों में क्रिप्टो का चलन है। समझने के लिहाज से भी आपको यह समझना चाहिए कि Crypto Coins और Crypto Tokens में क्या अंतर है।

बहुत से लोग सोचते हैं कि क्रिप्टो कॉइन और टोकन समान हैं। यह ध्यान में रखा जाना चाहिए कि ये दोनों समान नहीं हैं। इंडस्ट्री के विशेषज्ञों के अनुसार, सभी Crypto coins को टोकन माना जाता है लेकिन क्रिप्टो इंडस्ट्री में सभी टोकन मौलिक स्तर पर कॉइन नहीं हैं।

एक Crypto coins आमतौर पर एक ब्लॉकचेन नेटिव होता है और इसका उपयोग मुद्रा और स्टोर मूल्य का व्यापार करने के लिए किया जाता है, जबकि एक टोकन दूसरे कॉइन के ब्लॉकचेन का उपयोग करता है।

उदाहरण के लिए Ethereum एक ब्लॉकचेन है। इसका नेटिव कॉइन Ether है। हालांकि BAT और Loopring जैसे कई टोकन इस ब्लॉकचेन पर काम करते हैं।

कॉइन सीधे एक्सचेंज के माध्यम का प्रेजेंट करते हैं। दूसरी ओर टोकन एक एसेट का प्रतिनिधित्व करते हैं। टोकन को वैल्यू के लिए रखा जा सकता है, या ट्रेड किया जा सकता है और ब्याज अर्जित करने के लिए दांव लगाया जा सकता है।

Crypto Coins के लेन-देन को ब्लॉकचेन द्वारा कंट्रोल किया जाता है, जबकि टोकन ट्रेड के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट पर निर्भर करते हैं।

जब एक टोकन खर्च किया जाता है, तो वह एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाता है। उदाहरण के लिए, NFT एक तरह का अनूठा आइटम है, इसे ओनरशिप द्वारा मैन्युअल कंट्रोल किया जाता है। एक सिक्के को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने की आवश्यकता नहीं होती है। सभी ट्रांजेक्शन ब्लॉकचेन पर दर्ज किए जाते हैं।

एक टोकन दर्शाता है कि एक व्यक्ति के पास क्या है, जबकि एक सिक्का दर्शाता है कि वे क्या करने में सक्षम हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार अगर कोई इन्वेस्टर किसी प्रोडक्ट को खरीदना चाहता है, तो कॉइन सबसे अच्छे हैं और अगर यह एक सर्विस है तो यूटिलिटी टोकन का उपयोग किया जा सकता है।

थॉर के कीमत की भविष्यवाणी : DeFi प्लेटफॉर्म के लिए आगे क्या है?

क्रिप्टो की वेबसाइट के अनुसार, परियोजनाओं को थॉर कॉइन धारकों के समुदाय द्वारा वोट दिया जाता है – तस्वीर: Shutterstock

विषय-वस्तु

कई क्रिप्टो स्टार्टअप उभरे हैं जो निवेशकों को अनगिनत तरीकों से पैसिव आमदानी अर्जित करने का अवसर देते हैं.

थॉर (THOR), ऐसी ही कंपनियों में से एक है, जो 2021 में लॉन्च हुआ एक DeFi प्लेटफॉर्म है. यह प्रोजेक्ट कई थॉर कॉइन धारकों की ओर से DeFi प्रोजेक्टों, नॉन-फंजिबल टोकन (NFTs) और स्टेकिंग पूल में निवेश करती है.

खुद को "बहु-श्रृंखला उपज खेती प्रोटोकॉल" (जिससे अंग्रेज़ी में मल्टी-चैन यील्ड फ़ार्मिंग प्रोटकॉल” में जाना जाता है) के रूप में परिभाषित करते हुए, प्रोजेक्ट का दावा है कि वह निवेशकों को क्रिप्टो निवेश के लाभों से अवगत कराते हुए उन्हें नुकसान से बचाता है. अपनी वेबसाइट के अनुसार, विभिन्न निवेश रणनीतियों में जोखिम को संतुलित करके और केवल अनुभवी " दिग्गजों " का उपयोग करके, जो निवेश संभावनाओं के बारे में आवगत हैं, कॉइन धारक सफलतापूर्वक "न्यूनतम प्रयास के साथ पैसिव इंकम (यानी, निष्क्रिय आय) उत्पन्न कर सकते हैं".

अपने लॉन्च के बाद से, कॉइन ने महत्वपूर्ण अस्थिरता का अनुभव किया है, लेकिन थॉर की कीमत की भविष्यवाणी क्या है?

इससे पहले कि हम भविष्यवाणी देखें, आइए कॉइन की समीक्षा करते हैं.

थॉर (THOR) क्या है?

थॉर का कहना है कि यह क्रिप्टोकरंसी क्षेत्र में, तेज़ और मंद, दोनों बाज़ारों में, सबसे आशाजनक अवसरों की खोज और पहचान करता है. इसकी वेबसाइट के अनुसार, पुरस्कार अर्जित करने की प्रक्रिया उतनी ही आसान है जितना कि टोकन खरीदना, एक नोड बनाना और दैनिक पुरस्कार अर्जित करना. प्रोजेक्ट के संस्थापकों के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है.

यह ध्यान देने योग्य है कि वेबसाइट खुद काफी बड़ी नहीं है और प्रोजेक्ट के बारे में ज़्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है.

यह डेटा 2022 के लिए थॉर की कीमतों की भविष्यवाणी को कैसे प्रभावित करता है? या यहां तक कि 2025 के लिए थॉर की कीमत की भविष्यवाणी को कैसे प्रभावित करेगा?

भविष्यवाणियों को देखने से पहले आइए कॉइन के हाल ही के प्रदर्शन की समीक्षा करते हैं.

हाल ही का कॉइन का प्रदर्शन

लॉन्च होने के तुरंत बाद इस कॉइन की कीमत, 8 दिसंबर 2021 को $177.58 से 10 दिसंबर 2021 को $423.91 तक बढ़ गई. इसके बाद, 11 दिसंबर 2021 को इस कॉइन की कीमत $213.3 तक गिर गई जो कि 12 दिसंबर 2021 को फिर $387.65 तक बढ़ गई. 13 दिसंबर 2021 को $174.01 तक गिरने के बावजूद यह थॉर कॉइन फिर से $319.57 तक बढ़ गई. तब से, इस कॉइन का ट्रेंड, ज़्यादातर नीचे की ओर ही रहा है और 23 दिसंबर 2021 को यह गिरके $66.69 तक आ गया. 24 दिसंबर 2021 को अस्थायी रूप से $202.98 तक बढ़ने के बावजूद, यह कॉइन 7 जनवरी 2022 को $16.01 के रिकॉर्ड निचले स्तर तक गिर गया. महीने के अंत तक यह कॉइन फिर बढ़ने लगा और उसने 26 जनवरी 2022 को $233.81 के स्तर को छू लिया. कॉइन, फरवरी की शुरुआत में गिरा, और 22 फरवरी 2022 को घटकर $38.9 हो गया. तब से कॉइन 23 फरवरी 2022 को $51.67 पर पहुंच गया है.

23 फरवरी तक 30 दिनों में कॉइन ने लगभग 70% खो दिया, लेकिन उसके बाद 24 घंटों में यह 30% बढ़ गया.

थॉर कॉइन का मार्केट कैप Coin Market Cap पर उपलब्ध नहीं है. थॉर की पूरी तरह से डाईल्यूटेड मार्केट कैप (यदि अधिकतम आपूर्ति प्रचलन में हो) $1.058 बिल्यन है. वास्तविक समय में 20.5 मिल्यन कॉइनों की अधिकतम आपूर्ति और एक अज्ञात परिसंचारी आपूर्ति है.

यह डेटा थॉर की कीमत की भविष्यवाणी पर कैसे प्रभाव डालता है?

थॉर कॉइन की कीमत की भविष्यवाणी– विशेषज्ञ की राय

थॉर की कीमत की भविष्यवाणियों को देखते समय यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि, हलांकी वे यह बताने में एक संकेतक के रूप में सहायक हो सकते हैं कि कीमत किस दिशा में बढ़ सकती है, उन्हें संभावनाओं के रूप में ही देखा जाना चाहिए नाकि एक निश्चित तथ्य के रूप में.

इसे ध्यान में रखते हुए, आइए कुछ थॉर की कीमतों की भविष्यवाणियों पर नज़र डालते हैं.

2030 के लिए Price Prediction का थॉर की कीमत की भविष्यवाणि एक अजीबोगरीब $863.54 की है.

Digital Coin Price के अनुसार थॉर की कीमत 2023 तक $81.05 जा सकती है जो कि 2024 में $87.52 तक बढ़ सकती है.

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

वास्तविकता में कितने थॉर कॉइन हैं?

20.5 मिल्यन थॉर कॉइनों की अधिकतम आपूर्ति और एक अज्ञात परिसंचारी आपूर्ति है.

क्या थॉर एक अच्छा निवेश है?

यह एक बहुत ही नया कॉइन है जिसका एक अस्थिर मूल्य इतिहास है, इसलिए यह अनुमान लगाना बहुत मुश्किल है कि यह भविष्य में कितना अच्छा प्रदर्शन करेगा. वर्तमान में, काफी विरल वेबसाइट और संस्थापकों के बारे में जानकारी की कमी के कारण, इस कॉइन की संभावनाएं अज्ञात हैं.

यह हमेशा याद रखने योग्य है कि क्रिप्टो बाज़ार अत्यधिक अस्थिर है और सभी टोकन और कॉइनों की कीमत नीचे और ऊपर भी जा सकती है. कभी भी कोई पैसा निवेश न करें जिसे आप खोना बर्दाश्त नहीं कर सकते.

क्या थॉर ऊपर जाएगा?

अनुमान लगाने वाले प्लेटफॉर्म को लगता है कि यह कॉइन ऊपर जाएगा. हमेशा याद रखें कि पूर्वानुमानों, विशेष रूप से लंबी अवधि के पूर्वानुमानों को निश्चित तथ्य की बजाय संकेतक के रूप में देखा जाना चाहिए.

क्या मुझे थॉर में निवेश करना चाहिए?

निवेश करना एक अत्यधिक व्यक्तिगत चुनाव है. अपना स्वयं का शोध करें और थॉर इकोसिस्टम के भीतर किसी भी विकास पर अप-टू-डेट रखने का प्रयास करें जो इसकी संभावनाओं को बढ़ा या कम कर सकता है.

याद रखें, निवेश करना जोखिम भरा हो सकता है: यह महत्वपूर्ण है कि आप जितना पैसा खोने पर सहज रह सकते हैं उससे ज़्यादा निवेश न करें.

रेटिंग: 4.34
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 107
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *